गृह मंत्री दो दिन के बंगाल दौरे पर, मारे गए कार्यकर्ता के परिवार से मिले शाह

संगठन में जाने से पहले गृहमंत्री सड़क मार्ग से पुआबागान जाएंगे जहां पर वो बिरसा मुंडा की मुर्ति पर माला अर्पित करेंगे।

कलकत्ता: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह पंश्चिम बंगाल में दो दिन के दौरे पर बुद्धवार की रात को रवाना हुए। अमित शाह गुरूवार को संगठन के होने वाली बैठक में हिस्सा ले रहे हैं और उसके बाद एक आदिवासी के घर भोजन करेंगे। संगठन में जाने से पहले गृहमंत्री सड़क मार्ग से पुआबागान जाएंगे जहां पर वो बिरसा मुंडा की मुर्ति पर माला अर्पित करेंगे।

आदिवासी परिवार के घर गृहमंत्री अमित शाह का भोजन

उसके बाद संगठन की बैठक बांकुरा के रवींद्र भवन में होनी है। इस बैठक के बाद गृहमंत्री अमित शाह चतुर्डिही गांव के लिए निकलेंगे। इसी गांव में वो आदिवासी के घर दोपहर का खाना खाएंगे। आदिवासी परिवार के घर अमित शाह के स्वागत की जोरदार तैयारियां चल रही हैं। रात में ही अमित शाह कोलकाता वापस लौट आएंगे।

बंगाल में शहीद बूथ कार्यकर्ता के परिजनों से की मुलाकात

देर शाम बंगाल पहुंचे अमित शाह ने सबसे पहले न्यायिक हिरासत में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता मदन घोरी के परिवार से मुलाकात की। अपहरण के आरोप में 26 सितंबर को उन्हें गिरफ्तार किया गया था। 13 अक्तूबर को हिरासत में मदन की मौत हो गई थी।

शाह ने मुलाकात की फोटो ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैंने हमारे शहीद बूथ उपाध्यक्ष मदन घोरी के परिजनों से मुलाकात की। इस बहादुर परिवार को मेरा नमन।’

शुक्रवार को मटुआ समुदाय से मिलना

शुक्रवार को भी अमित शाह को कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेना है। इसकी शुरूआत वो दक्षिणेश्वर मंदिर में दर्शन करने से करेंगे। गृहमंत्री इसके बाद कई और बैठकों में हिस्सा लेंगे। शुक्रवार दोपहर का भोजन अमित शाह मटुआ समुदाय से आने वाले नबीन विश्वास के घर करेंगे। अमित शाह मटुआ समुदाय के मंदिर भी जाएंगे जो कि कोलकाता के न्यूटन इलाके में स्थित है।

पश्चिम बंगाल में हाने वाले चुनाव की तैयारी

हवाई यात्रा करते हुए रात के नौ बजे गृह मंत्री अमित शाह कोलकाता एयरपोर्ट पर पहुंचे। जहां पर बीजेपी के पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया, जिनमें कैलाश विजयवर्गीय जैसे नेता भी शामिल थे। माना जा रहा है कि अमित शाह का यह दौरा पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले चुनाव के तैयारियों की शुरूआत है।

गृहमंत्री अमित शाह का बंगाल दौरा पश्चिम बंगाल में आने वाले चुनाव का संकेत है। अपने दौरे से अमित शाह आदिवासी समुदाय के साथ समाज के कुछ और विशिष्ट लोगों का रूख बीजेपी की तरफ मोड़ने का प्रयास कर रहे हैं जिसका फायदा उन्हें आने वाले चुनाव में हो सके।

 

ये भी पढ़ें : US election 2020: जो बिडेन ने रचा इतिहास, ओबामा का रिकॉर्ड तोड़ बने सबसे अधिक वोट हासिल करने वाले उम्मीदवार

Related Articles

Back to top button