यूपी विधानसभा में विस्फोटक मामले में NIA ने शुरू की जांच

0

लखनऊ। पिछले दिनों बजट सत्र के दौरान विधानसभा में मिले विस्फोटक मामले में केस दर्ज होने के बाद नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने अपनी जांच शुरू कर दी है। जांच शुरू करते ही एनआईए ने यूपी एसटीएफ से अबतक की जांच रिपोर्ट मांगी है।

14 जुलाई को हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया

सूत्रों का कहना है कि जांच टीम आज शुक्रवार को विधानसभा के उस जगह की जांच करेगी जहां से विस्फोटक बरामद हुए थे। इस मामले की जांच टीम का मुखिया दिल्ली एनआईए के एसपी अतुल गोयल को बनाया गया है। साथ ही लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार उनकी मदद करेंगे।

ये भी पढ़ें:  यूपी विधानसभा विस्फोटक मामले में मीडिया का चौकाने वाला खुलासा, लेकिन सरकार का इनकार

विस्फोटक मामले में 14 जुलाई को हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसके बाद ये केस एसटीएफ को सौंपा गया। एटीएस ने समाजवादी पार्टी के दो विधायक मनोज पांडेय और अनिल दोहरे समेत लगभग डेढ़ दर्जन लोगों से पूछताछ की थी।

टीम दोबारा यहां काम करने वाले अधिकारियों,कर्मचारियों और नेताओं से पूछ्ताछ करेगी। आपको बता दें कि गौरतलब है कि गत 12 जुलाई को विधानसभा भवन में सपा विधायक के सीट के नीचे विस्फोटक मिला था। जाँच में विस्फोटक की पुष्टि होने के बाद सीएम योगी ने विधासभा में जांच की बात कही थी।

सपा विधयक से हुई थी पूछताछ 

इस मामले में सपा के विधायकों से भी पूछताछ की गई। यूपी विधानसभा में समाजवादी पार्टी के एमएलए मनोज पांडे की सीट के नीचे से ही पेंटेरीथ्रिटोल टेट्रानेरेट्रेट (पीईटीएन) विस्फोटक मिला था लेकिन बीस मिनट तक हुई पूछताछ में पांडे ने बताया कि उनहोंने कोई संदिग्ध चीज़ अपने आसपास नहीं देखी। इसके अलावा कन्नौज से ही समाजवादी पार्टी के विधायक अनिल दोहरे से भी एटीएस ने फोन पर ही पूछताछ की है। वे 12 जुलाई मनोज पांडे के बगल वाली सीट पर विधानसभा मे बैठे थे।

loading...
शेयर करें