अंग्रेजी मीडियम के निर्देशक होमी ने कहा मुस्कान से बड़ा तोहफा दूसरा कोई नहीं है

आने वाले शुक्रवार को रिलीज होने जा रही इरफान खान की फिल्म ‘अंग्रेजी मीडियम’ को लेकर दर्शकों में काफी उत्सुकता है। फिल्म के निर्दशक होमी अदजानिया इससे पहले बीईंग साइरस, फाइंडिग फैनी और कॉकटेल जैसी मेट्रो शहरों वाली फिल्में बना चुके हैं।

लक्षद्वीप में स्कूबा डाइविंग सिखाने वाले होमी अदजानिया को किस्से सुनाने का शौक अपने पिता से मिला। रोमांचक यात्राओं के बारे में पत्रिकाओं में लिखते रहे होमी किस्से सुनाते सुनाते ही फिल्ममेकर बन गए। वह कहते हैं, “मेरा पिता के मुताबिक जिंदगी सिर्फ वर्तमान और भूतकाल की यादगार यादें हैं। वही आपकी जिंदगी को परिभाषित करेगा। शुरू में मैं सिर्फ एक फिल्म बनाकर इसके जरिए कहानी कहना चाहता था। फिर सिलसिला चल निकला। निर्माता दिनेश विजन ने मुझ पर भरोसा किया और फिल्में बनती चली गईं।” और, अंग्रेजी मीडियम?

“इसके बनने का किस्सा भी फिल्म की तरह ही दिलचस्प है। मैं एक कातिल की कहानी बनाने की तैयारी में था और दिनेश विजन ने एक दिन बुलाकर मुझे ये कहानी सुनवाई। कहानी सुनने के बाद तो मैं अवाक रह गया, मैंने छूटते ही कह दिया कि ये फिल्म मैं बना रहा हूं। ये फिल्म दूसरों के चेहरे पर मुस्कान लाने की कहानी है और ये एक ऐसा फलसफा है जिसके आगे दुनिया का दूसरा हर तोहफा बेकार है।” होमी बताते हैं।

Related Articles