UP में मानव तस्करी का बड़ा रैकेट, 3 आरोपी गिरफ्तार

यूपी के आतंकवाद निरोधी दस्ते ATS ने मानव तस्करी के आरोप में एक बांग्लादेशी और उसके दो रोहिंग्या साथियों को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आतंकवाद निरोधी दस्ते ATS ने मानव तस्करी के आरोप में एक बांग्लादेशी और उसके दो रोहिंग्या साथियों को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया है। के अधिकारियों ने म्यांमार की दो लड़कियों को भी गिरोह के सदस्यों के चंगुल से छुड़ाया, जिनकी पहचान मोहम्मद नूर, रहमतुल्ला और शबीउल्लाह के रूप में हुई है। इन लड़कियों की उम्र 16 और 18 साल है।

एडीजी (ADG) कानून और व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि, मोहम्मद नूर एक बांग्लादेशी और गिरोह का मास्टरमाइंड है। जबकि रहमतुल्लाह और शबीउल्लाह रोहिंग्या हैं। गिरोह के सदस्य मानव तस्करी, सोने की तस्करी और महिलाओं और बच्चों सहित कई चैनलों के माध्यम से देश में अन्य शरणार्थियों की मदद करने में जुटे हैं।

शादी का झांसा और पुरुषों को नौकरी

ADG ने कहा कि नूर म्यांमार की महिलाओं को शादी का झांसा और पुरुषों को नौकरी का झांसा देता था। बाद में उसने बांग्लादेश के रास्ते अवैध रूप से भारत में प्रवेश कर उन्हें कारखानों में नौकरी दिला दी। प्रशांत कुमार ने कहा, उन्होंने भारतीय पहचान के अपने फर्जी प्रमाण पत्र भी तैयार किए, जबकि महिलाओं की तस्करी भी की गई।

ATS के महानिरीक्षक गजेंद्र कुमार गोस्वामी ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के आधार पर उन्होंने गाजियाबाद रेलवे स्टेशन में दो लड़कियों के साथ गिरोह के सदस्यों को ट्रैक किया और मंगलवार को ब्रह्मपुत्र मेल के जरिए दिल्ली जाते वक्त उन्हें गिरफ्तार कर लिया। आईजी एटीएस (IG ATS) ने कहा हमने तीन को गिरफ्तार किया है और दो लड़कियों को लखनऊ (Lucknow) के आशा ज्योति केंद्र भेज दिया है। हम उनसे बाद में पूछताछ करेंगे।

यह भी पढ़ेApple की ताबड़तोड़ कमाई, तिमाही में कमाए इतने बिलियन डॉलर

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles