हिमाचल की बर्फबारी में फंसे हैं सैंकड़ों वाहन, आम जनजीवन है अस्त व्यस्त

ताजा पश्चिमी विक्षोभ के चलते हिमाचल प्रदेश के जनजातीय लाहुल स्पीति और किन्नौर जिले में रूक रूक कर हो रहे हिमपात से आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है।

शिमला: ताजा पश्चिमी विक्षोभ के चलते हिमाचल प्रदेश के जनजातीय लाहुल स्पीति और किन्नौर जिले में रूक रूक कर हो रहे हिमपात से आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। कई स्थानों पर भारी हिमपात के चलते राष्ट्रीय राजमार्गों अनेक सम्पर्क मार्ग रोक दिए गए हैं। वहीं बिजली और पानी की सप्लाई बंद है और लोग घरों में कैंद हो गए है। किन्नौर में राष्ट्रीय राजमार्ग-5 पर प्रसिद्ध पर्यटन स्थल नाको के पास मलिंग नाले में भूस्खलन होने की सूचना है।

हिमाचल मेें आवाजाही बन्द

बर्फबारी के बाद सड़क पर चट्टानें गिरने के कारण रास्ता आवाजाही के लिए अवरुद्ध हो गया है और सैंकड़ों वाहन फंस गए है। दोनों ओर से गाड़ियों की लगी लंबी कतार लगी हैं।

दूसरी ओर अधिंक ठंड होने के कारण आसपास खाने-पीने का साधन ना होने से वाहनों में फंसे लोगों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। भूस्खलन से जिला लाहुल-स्पीति के काजा उपमंडल समेत किन्नौर के कई गांव का संपर्क सड़क मार्ग से देश से कट गया है। हालांकि बीआरओ की ओर से मार्ग को बहाल करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

इधर, सिरमौर की सबसे ऊंची चोटी चूड़धार पर करीब एक फुट ताजा हिमपात रिकॉर्ड किया गया है। इसके अलावा नौहराधार और हरिपुरधार की पहाड़ियों पर भी हल्की बर्फबारी हुई है। बर्फबारी होने से समूचा क्षेत्र भी शीतलहर की चपेट में आ गया है।
जिला प्रशासन लाहौल स्पीति ने एडवाजरी जारी की है। राष्ट्रीय राजमार्ग 003 उत्तर पोर्टल से केलांग की ओर अवरूद्ध है। जिला प्रशासन की पूर्व अनुमति के बिला किसी भी वाहन को यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी। आपातकालीन स्थिति में अगर यात्रा करने के लिए पुलिस जिला डाईजेस्टर कंट्रोल रूम से संपर्क करना होगा।

भारी हिमपात की संभावना

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डाॅ. मनमोहन सिंह ने बताया कि अगले 24 घंटों मेें हिमाचल प्रदेश के अनेक स्थानों पर बारिश और भारी हिमपात की संभावना है। इस दौरान मैदानी इलाकों में घना कोहरा और ठण्ड का प्रकोप जारी रहेगा। एक दो स्थानों पर भारी से बहुत भारी हिमपात हो सकता है।

उन्होंने बताया कि केलांग में सबसे कम न्यूनतम तापमान शून्य से कम 4.5 डिग्री ,कल्पा शून्य से कम 1.6 डिग्री रिकार्ड किया गया। इसके अलावा मंडी जिले के सुंदरनगर में 3.8, कुल्लू के भुंतर में 3.3, मनाली में 2.0, शिमला में 5.6, धर्मशाला 5.2, कुफरी 4.7, डलहौजी 4.0, चंबा 5.4, मंडी 4.1 और सोलन में 6.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

यह भी पढ़े: भारतीय टीम थाईलैंड रवाना, चीन-जापान की टीम टूर्नामेंट से बाहर

Related Articles

Back to top button