पत्नी के नौकर संग संबंध पर पति ने उठाया ऐसा कदम, एक महिना बाद होगी लाश की पहचान

उत्तर प्रदेश:आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर विगत नौ जून को थाना नसीरपुर क्षेत्र में जवाहर पुलिया के पास युवक का शव बरामद हुआ था। पुलिस ने इस हत्याकांड में बड़ी कामयाबी हासिल की है।युवक की हत्या कर यहां शव फेंका गया था। इस हत्याकांड में पुलिस ने दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों द्वारा मृतक की हत्या के बाद ऐसा कोई सबूत नहीं छोड़ा, जिससे मृतक कि पहचान हो सके। 12 जुलाई को मृतक की शिनाख्त बंटी कठेरिया (35) पुत्र रामलाल निवासी ग्राम रैपुरा थाना जहानगंज जनपद फर्रुखाबाद के रूप में उसके भाई रमेश द्वारा की गयी। हत्या के आरोपी संदीप पुत्र नाहर सिंह निवासी चंदरपुर थाना भौगांव जिला मैनपुरी और प्रदीप पुत्र मुनीम सिंह निवासी भोजपुर थाना विशुनगढ जिला कन्नौज को गुरुवार सुबह शिकोहावाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से पुलिस ने गिरफ्तार किया गया। एसएसपी सचिंद्र पटेल ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया गया कि मृतक बचपन से अभियुक्त संदीप के चाचा सर्वेश पुत्र माखन सिंह निवासी ग्राम चन्दरपुर थाना भोगांव के यहां नौकर था। बंटी के संबंध संदीप की पत्नी से हो गए थे।वह उसकी पत्नी को चार जून को कानपुर लेकर चला गया था। संदीप ने अपने साले प्रदीप और चेचेरे भाई प्रदीप, अंकित व छोटा के साथ मिलकर आठ जून को बंटी की हत्या कर शव को थाना नसीरपुर क्षेत्र में छिपा दिया था।

 

Related Articles