पति निकला ईमानदार, पत्नी को प्रेमी संग सौंपा, मिला ऐसा धोखा की फिर नहीं पा सका मौका

मुरादाबाद: भरोसा होना तो जरूरी है लेकिन पत्नी को किसी के पास सौंप देना बड़ा मुश्किल साबित होता है। ऐसा ताजा मामला यूपी के मुरादाबाद (Moradabad) जिले के मझोला थाना क्षेत्र में देखने को मिला है। यहां पति ने खुद अपनी पत्नी को उसके प्रेमी के पास सौंप दिया। लेकिन, प्रेमी के साथ आठ माह बिताने के बाद उसे फिर से पति और बेटी की याद आने लगी। जब यह बात प्रेमी को पता चली तो विवाद होने लगा। मामला नारी उत्थान केंद्र पहुंचा फिर काउंसलर ने समझौता कराया फिर युवती प्रेमी के साथ रहने के लिए राजी हो गई।

जानकारी के मुताबिक, मझोला इलाके की महिला की शादी उसी क्षेत्र के रहने वाले युवक से करीब पांच साल पहले हुई थी। शादी के बाद दोनों का वैवाहिक जीवन ठीक चलता रहा। महिला ने एक बच्ची को भी जन्म दिया। इसके बाद पति ने महिला को किसी से फोन पर बात करते हुए देख लिया, जब पति ने पूछा तो महिला बहाने बनाने लगी। लेकिन बाद में पति ने फिर बात करते हुए उसे पकड़ लिया।

महिला ने खोला राज़

इसके बाद महिला ने अपना राज़ खोलते हुए बताया कि शादी से पहले उसका किसी से प्रेम सम्बंध था और उसी से बात कर रही थी। फिर क्या पति ने अपनी पत्नी और उसके प्रेमी को मिलवाने की ठान ली और करीब आठ माह पहले पति ने अपनी पत्नी को उसके प्रेमी से मिलवाया और उसके साथ छोड़ दिया और अपनी पत्नी से सारे रिश्ते खत्म कर दिए।

प्रेमी को हुआ शक तो फिर बवाल

ये सब कुछ होने के बाद प्रेमी को जब पता चला महिला अपने पहले पति से फोन पर बात करती है। जब प्रेमी ने महिला से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके पहले पति ने अपनी बेटी से बात करने के लिए फोन किया था। इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद शुरू हुआ फिर बात इतनी बढ़ गयी कि महिला का प्रेमी उसे मारने पीटने लगा।

नारी उत्थान केंद्र ने सुलझाया मामला

महिला ने इसकी शिकायत एसएसपी ऑफिस में की। जहां से महिला के प्रार्थना पत्र को नारी उत्थान केंद्र भेजा। वहां की काउन्सलर ऋतु नारंग ने पीड़ित महिला और उसके प्रेमी दोनों के बीच काउंसलिंग कराई। बातचीत के बाद प्रेमी-प्रेमिका दोनों एक साथ रहने के लिए राजी हो गए। वहीं, यह भी निर्णय लिया गया लड़की अब अपने पूर्व पति से बात नहीं करेगी।

Related Articles