जाति अगर गुनाह तो सज़ा प्यार को क्यों?

एक हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है मध्य प्रदेश के झाबुआ से, जिसमें एक महिला को कथ‍ि‍त तौर पर किसी दूसरी जाति के पुरुष से प्रेम संबंधों के कारण सार्वजनिक तौर पर सजा दी गई. सजा के तौर पर गांव के कुछ लोगों ने उसे उसके प्रेमी को कंधे पर बैठाकर चलने को मजबूर किया. हालांकि, इससे पहले कथित तौर पर महिला के प्रेमी को उसका पति भी बताया जा रहा था. घटना का वीडियो वायरल हो चुका है.

मामला राजधानी भोपाल से लगभग 340 किलोमीटर दूर झाबुआ जिले के देवीगढ़ गांव का है. वायरल हो रहे 33 सेकेंड लंबे वीडियो में महिला अपने प्रेमी को अपने कंधे पर ले जाती हुई दिखाई दे रही है. उसके आसपास कई पुरुष चल रहे हैं, जो करीब सभी आयु वर्ग से हैं.

आसपास देखकर आसानी से ये अंदाजा लगाया जा सकता है कि वे खेतों और पगडंडियों से होकर गुजर रहे हैं. वे चिल्ला रहे हैं, कुछ नाच रहे हैं और महिला की हालत पर हंस रहे हैं. इनमें से कुछ ऐसे भी हैं जो अपने मोबाइल फोन पर इस शर्मनाक घटना को रिकॉर्ड कर रहे हैं. इनमें से कुछ लोग लाठी से लैस हैं और एक शख्स छोटे से खंबे पर चढ़ा हुआ है, और एक झंडा भी फहराता है.

जैसे-जैसे वह आगे चलती है, उसके पैर कांपने लगते हैं. कुछ वक्त बाद ऐसा महसूस होता है कि महिला कंधे पर वजन के कारण गिरने वाली है. धूप में जब वह आराम करने के लिए रुकती है तो भीड़ झूमती है. महिला कांपते पैरों के साथ अपने पति को कंधे पर लादे चलना जारी रखती है.

स्थानीय पुलिस ने मामले में संज्ञान लिया है. झाबुआ के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विनीत जैन ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ ही अन्य आरोपियों को पकड़ने की कोशिश जारी है.

Related Articles