अगर घर के बाहर चस्पा कोविड-19 पर्चा फाड़ा, तो होगी कड़ी कार्रवाई

राजनांदगांव: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कहा है कि कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए कोविड-19 के संबंध में जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन करने की जरूरत है। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों और होम आइसोलशन में घर के बाहर चस्पा कोविड पर्चा फाड़ने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

पर्चा फाड़ने पर होगी कार्रवाई

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन लक्ष्य के अनुरूप सैम्पल को एकत्र कलेक्शन करें। ऐसे व्यक्ति जिसमें कोरोना लक्षण हो या उनके संपर्क में आया हो उसका सेंपल अनिवार्य रूप से लिया जाए। कोराेना संक्रमित यदि होम आइसोलेशन में है तो उसके घर के बाहर कोविड पर्चा चिपकाया जाए। इस पर्चे को फाड़ने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए।

धान खरीद के समय सख्ती से हो पालन

आधिकारिक जानकारी के अनुसार टोपेश्वर वर्मा ने समय सीमा की बैठक में कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने, धान खरीदी की तैयारी और शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 1 दिसम्बर से धान खरीदी प्रारंभ होगी। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली जाए। धान खरीदी केन्द्र में बारदाने की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी एसडीएम, तहसीलदार को अपने क्षेत्रों के धान खरीदी केन्द्र में भौतिक सत्यापन करने के निर्देश देते हुए कहा कि खरीदी प्रारंभ होने के बाद किसी भी किसान को परेशानी नहीं होनी चाहिए।

उन्हाेंने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि गौठानों को आत्मनिर्भर मॉडल गौठान बनाया जाए। उन्हाेंने फसल कटाई प्रयोग की जानकारी लेते हुए कहा कि जो लक्ष्य दिया गया है, उसे समय पर पूरा करें। उन्होंने कहा कि जिले से पलायन करने वाले मजदूरों की जानकारी रखे। बाहर जाने वाले मजदूरों का विवरण पंजी में दर्ज किया जाए।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते केसों के देखते केंद्र सरकार सख्त, अब और सख्ती बढ़ी

Related Articles

Back to top button