IPL
IPL

अगर आपकी कार में नहीं है Air Bag तो इस खबर को जरूर पढ़ें, नहीं तो हो सकता है नुकसान

नई दिल्ली: देश में रोजाना कार से हो रहे एक्सीडेंट को देखते हुए मोदी सरकार ने लोगों की सुरक्षा के लिए बड़ा कदम उठाया है। सड़क और परिवहन मंत्रालय ने देश में कार बनाने वाली कंपनियों को एक बड़ा निर्देश दिया है। मंत्रालय ने कहा है कि 1 अप्रैल के बाद बनने वाली नई कार में एयर बैग अनिवार्य है।

अप्रैल से एयर बैग जरूरी

केंद्र सरकार ने देश के लोगों की सुरक्षा के लिए बड़ा कदम उठाया है। सड़क और परिवहन मंत्रालय ने 1 अप्रैल के बाद बनने वाली नई कार में एयरबैग जरूरी कर दिया है। कंपनियों को अब नई कारों में अप्रैल से ड्राइवर और उसकी बगल वाली सीट के लिए एयर बैग हर हाल में लगाना जरूरी होंगे।

पुरानी कारों में भी एयरबैग जरूरी

सरकार ने जो नियम बनाए हैं उसमें पुरानी कारों का भी जिक्र किया गया है। नए नियमों के मुताबिक पुरानी कार जिनमें अभी एयर बैग नहीं है, उन्हें 31 अगस्त तक एयर बैग लगाने की छूट दी गई है। लेकिन अगर आप 31 अगस्त के बाद भी बिना एयर बैग के सड़क पर कार दौड़ा रहे हैं तो आपकी कार का चालान किया जाएगा।

बता दें कि देश में लगातार हो रहे हादसों को लेकर सरकार इस नियम को बनाने के लिए काफी समय से काम कर रही थी जिसके बाद हाल ही में परिवहन मंत्रालय ने कानून मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा था। अब कानून मंत्रालय ने प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

कैसे काम करता है Air Bag?

कार में एयरबैग कितना जरूरी होता है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुनिया के अधिकतर देशों में इसको मैंडेटरी कर दिया गया है। अब भारत सरकार ने भी इसे अनिवार्य कर दिया है। लेकिन कई लोग ये नहीं जानते हैं कि एयर बैग क्या होता है और ये कैसे काम करता है। आपको बता दें कि जब कार किसी चीज से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त होती है तब टकराने की स्पीड के अनुसार ही कार का एयरबैग खुलता है। किसी चीज से टकराने पर कार का एक्सिलेरोमीटर सर्किट सक्रीय हो जाता है और सर्किट एक इलेक्ट्रिकल करेंट भेजता है जिससे आगे लगा सेंसर एयरबैग को सिगनल देता है और एक सेकंड से भी कम समय में लगभग एयरबैग खुल जाता है।

यह भी पढ़ें: Road Safety World Series 2021: Sehwag और Sachin की बल्लेबाजी में अभी भी वही धार, खेली तूफानी पारी

Related Articles

Back to top button