जाति व धर्म से ऊपर उठकर सोचना सीख लें तो देश की तस्वीर कुछ और ही होगी: लक्ष्य

लखनऊ: लक्ष्य कमांडर कलीम अहमद ने बहुजन जागरूकता अभियान के तहत एक भीम चर्चा का आयोजन लखनऊ के इंदलगंज में किया। जाति व धर्म से ऊपर उठकर सोचना सीख लें तो देश की तस्वीर कुछ और ही होगी। हम किसी भी दायरे में बंधकर क्यों रहें, अगर कोई भी कार्य जो संविधान के दायरे में आता है।

मानव विकास के लिए लाभ दायक है तो वह कार्य हमें करना चाहिए। हमें जाति व धर्म की उन बेड़ियों को तोड़ देना चाहिए जो हमारे विकास, स्वतंत्रता व भाईचारे में आड़े आती हो अर्थात् ऐसी रूढिवादिओं को तोड़ना होगा जो हमारे विकास व भाईचारे में रोड़ा बनती हों। हम सब लोगों को मिलकर समाज व देश की मजबूती के लिए कार्य करना चाहिए, अगर देश सम्पन्न है तो देश का नागरिक भी सम्पन्न होगा, देश में मजबूत भाईचारा होगा, खुशहाली होगी और किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं होगा। यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही।

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि कुछ दूषित मानशिकता वाले लोग अपने स्वार्थ में जाति व धर्म की आड़ में अपना उल्लू सीधा करने का प्रयास करते रहते है। इस भीम चर्चा में लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, शाहीन बानो,हासमा बानो,हयात खान, गुलशन शारूख, राजकुमारी कौशल, धम्मप्रिया गौतम, पूजा गुलाटी, विमलेश चौधरी, शिखा सिंह,धर्मवती,मीना, एकता, हयात खान, कलीम अहमद, वासिम,एम एल आर्या सुधीर कुमार, राहुल कुमार, कुलदीप बौद्ध, ऋषभ कुमार,शैलेन्द्र कुमार राज,गोविन्द कुमार, राजेश यादव व रवि चौधरी ने हिस्सा लिया।

 

Related Articles