फेसबुक अकाउंट को रखना है सुरक्षित तो जरूर अपनाएं ये तरीकें, जानें

0

ई दिल्लीः सोशल मीडिया प्लेट फॉम पर फेसबुक एक ऐसा एप जो दुनियाभर में पॉप्युलर है, जिसके चाहने वालों की संख्या साल दर साल बढ़ती ही जा रही है। फेसबुक भी अपने यूजर्स के लिए नई-नई सुविधाओं की लॉन्चिंग करता रहता है। हैकर्स भी इस प्लैटफॉर्म पर अटैक करने और डेटा चुराने की कोशिश में लगे रहते हैं। फेसबुक पर अपना डेटा और अकाउंट सिक्यॉर रखने के लिए कुछ सेटिंग्स में बदलाव करना बेहद जरूरी है। अगर आप फेसबुक पर अपने अकाउंट को लेकर लापरवाह हैं तो डेटा चोरी से लेकर अकाउंट हैक तक हो सकता है। आपको फौरन इन पांच सेटिंग्स पर ध्यान देना चाहिए।

  • ऑन रहे टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन

फेसबुक पर स्ट्रॉन्ग पासवर्ड होना बहुत जरूरी है, जिसमें कैपिटल लेटर और नंबर भी शामिल हों। इसके अलावा अकाउंट सेटिंग्स और Security & Login में जाकर आपको टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन भी ऑन कर लेना चाहिए। इसके ऑन होने पर हर बार नए डिवाइस पर लॉगिन करते ही आपके नंबर पर ओटीपी आएगा और इस ओटीपी की मदद से ही आप लॉगिन कर पाएंगे। इस तरह बिना आपकी जानकारी के नए डिवाइस पर लॉगिन नहीं किया जा सकेगा।

  • रिव्यू करें डिवाइसेज

आप किन डिवाइसेज पर फेसबुक चला रहे हैं, इनकी पूरी लिस्ट भी सेटिंग्स में जाकर देखी जा सकती है। अगर आपको कोई नया डिवाइस इस लिस्ट में दिखता है, इसका मतलब है कि कोई और भी आपका अकाउंट ऐक्सेस कर रहा है। यहीं से आप उस डिवाइस को रिमूव कर के अकाउंट का ऐक्सेस रोक भी सकते हैं। सेटिंग्स से Security & Login में जाने पर आपको Where you have logged in दिखेगा, इसके सामने डिवाइसेज की लिस्ट और लोकेशन दिख जाएगी। इस लिस्ट को भी रिव्यू करना जरूरी है।

  • सेटअप करें ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स

फेसबुक की सेटिंग्स और Security & Login में जाकर आप 3 से 5 फेसबुक फ्रेंड्स को अपना ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स बना सकते हैं। अगर किसी वजह से आपका फेसबुक अकाउंट हैक हो जाता है या फिर आप पासवर्ड भूल जाते हैं, तो ये ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स आपकी मदद कर सकेंगे। फेसबुक आपकी ओर से प्रोसेस शुरू करने पर इन कॉन्टैक्ट्स को अलग-अलग कोड भेजेगा और सभी के कोड एंटर करने के बाद आप दोबारा अकाउंट ऐक्सेस कर सकेंगे।

  • थर्ड पार्टी ऐप्स पर लॉग-इन

अगर आपने फेसबुक की मदद से थर्ड पार्टी ऐप्स जैसे- किसी गेम या वेबसाइट पर लॉग-इन किया है तो काम खत्म होते ही उस ऐप को अकाउंट से रिमूव कर दें। इसके लिए आपको सेटिंग्स से अकाउंट सेटिंग्स और फिर सिक्यॉरिटी में जाना होगा। यहां Apps and Websites पर क्लिक करते ही दिख जाएगा कि किन ऐप्स या साइट्स पर आपने फेसबुक से लॉग-इन किया है। जरूरत ना होने पर इन्हें Remove कर दें।

  • मैनेज करें फेसबुक डेटा

फेसबुक इन्फॉर्मेशन पेज पर जाने के बाद अब यूजर्स को ‘Manage your data’ का शॉर्टकट भी दिया जा रहा है। इस फीचर को ऐक्सेस करने पर आपसे पूछा जाएगा कि आप फेसबुक या इंस्टाग्राम, कहां पर डेटा मैनेज करना चाहते हैं। आप यहां लोकेशन डेटा से लेकर फेस रेकग्निशन और अपलोड किए गए कॉन्टैक्ट्स तक का डेटा मैनेज कर पाएंगे। आप चुन सकेंगे कि फेसबुक कौन सा डेटा दूसरे ऐप्स के साथ शेयर या फिर यूज करेगा और कौन सा नहीं।

loading...
शेयर करें