रिसर्च: लंबी उम्र के लिए ज्यादा बच्चे जरुरी

0

टोरंटो। एक नए शोध में चौकाने वाला खुलासा हुआ है। इस शोध के मुताबिक, एक  महिला द्वारा जन्म दिए गए बच्चों की संख्या उसकी उम्र को प्रभावित करती है। इस शोध में जो निष्कर्ष निकला है उसके मुताबिक, उन सिद्धांतों का खंडन किया गया है जिसमे कहा गया है कि ज्यादा बच्चे पैदा करने से जल्दी बुढ़ापा आता है।

-long-life-give-birth-to-many-children  इस अध्ययन के मुताबिक, जो महिलायें जयादा बच्चे पैदा करती हैं उनके टेलोमेयर्स लंबे होते हैं, जो कोशिकाओं की लंबी उम्र को दर्शाते हैं।

क्या है टेलोमेयर्स

डीएनए के आखिर में पाए जाने वाले टेलोमेयर्स की कोशिकाओं से उम्र का पता चलता है। यह टेलोमेयर कोशिका प्रतिरूप का अभिन्न अंग है, जो व्यक्ति की लंबी उम्र से संबंधित होते हैं।

इस शोध को करने के लिए अध्ययनकर्ता ने 75 महिलाओं को शामिल किया। इसके बाद उनके द्वारा पैदा किये गए बच्चों का अआक्लन किया गया।ये आकलन उनके दो पड़ोसी स्वदेशी ग्रामीण ग्वाटेमाला ग्रुप और टेलोमेयर लंबाई के आधार पर किया गया। शोध के दौरान सभी प्रतिभागियों के टेलोमेयर की लंबाई, राल (थूक) के नमूनों और माउथ (मुख) स्वैब की सहायता से दो बार मापी गई। माउथ स्वैब जबड़े की कोशिकाओं के अंदर से डीएनए को इकट्ठा करने की एक विधि है।
साइमन फ्रेसर यूनिवर्सिटी के स्वास्थ्य विज्ञान के प्रोफेसर पाब्लो नेपोमैंशी के अनुसार, “ये निष्कर्ष जीवन इतिहास के उन सिद्धांतों का खंडन करते हैं, जो यह बताते हैं कि बच्चों को जन्म देने की संख्या जैविक बुढ़ापे की गति को बढ़ाती है।”

उन्होंने बताया, “अधिक संतानों वाले प्रतिभागियों में छोटे टेलोमेयर की धीमी गति पाई गई थी, हालांकि इसके लिए एस्ट्रोजन हार्मोन की वृद्धि को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।” तो इस शोध से ये पता चला कि बच्चे पैदा करने और बुढापे का कोई कनेक्शन नहीं होता।

 

loading...
शेयर करें