अगर आप के बच्चों को मिट्टी खाने की आदत पड़ी है तो अपनाये ये तरीका नही तो…

0

नई दिल्ली:अक्सर लोगों की यही शिकायत होती है कि उनका बच्चा मिट्टी खाने की आदत पड़ चुकी है रेत, धागा, पत्थर या चूना खा जाता है. अभिभावकों की चिंता उसकी आदत को छुड़ाने को लेकर होती है.रात में बच्चा दांत पीसता है या फिर उसके मुंह से लार बहता है तो समझ लीजिए ये इस बात का लक्षण है कि आपके बच्चे के पेट में कीड़ा है.विशेषज्ञ इसके अलावा भी कई अन्य लक्षण बताते हैंजैसे खून की कमी, उल्टी का होना, कब्ज का रहना, थकावट महसूस करना, आखों के इर्द गिर्द काले धब्बों का पाया जाना इत्यादि. पेट में कीड़ों का होना सामान्य बीमारी है जो बच्चों में ही नहीं बल्कि बड़ों के लिए भी तकलीफ का कारण बनता है. पेट में कीड़े होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कची पकी चीजों का खाना, सब्जियों-फलों को अच्छी तरह से न धोना, प्रदूषित पानी, खराब खानपान या अच्छी तरह से हाथों का न धोना.

पेट के कीड़े आंखों से नहीं दिखाई देते

पेट के कीड़े कई प्रकार के पाए जाते हैं. इसलिए अगर किसी बच्चे को पेट, सिर में दर्द या कोई अन्य लक्षण दिखे तो उस पर फौरन ध्यान देना चाहिए. डॉक्टरों से मिलकर बच्चों का लक्षण बताएं फिर उसके आधार पर बच्चे का इलाज किया जाएगा. ये कीड़े नाखूनों के जरिए, मुंह से हवा के जरिए या नाक से भी शरीर में दाखिल होने का रास्ता बना लेते हैं. घर से बाहर नंगे पांव घूमने पर भी उन्हें शरीर में दाखिल होने का मौका मिल जाता है. महिलाओं के नाखूनों के साफ न होने की वजह से पेट के कीड़ों के अंडे उनमें जमा रहते हैं जो इंसान को आंख से दिखाई नहीं देते. फिर खाना खाने या मुंह और हाथ के संपर्क से आंतों में दाखिल हो जाते हैं.

शेयर करें