बड़ी खबर : अब IIIT में जल्द लागू होगी तीन सेमेस्टर वाली प्रणाली, स्टूडेंट्स को होगा फायदा

0

इलाहाबाद। भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान यानी IIIT अब जल्द ही एक साल में तीन सेमेस्टर वाली प्रणाली लागू करने जा रहा है। दरअसल, इस मामले पर IIIT के नए प्रो. नागभूषण का कहना है कि तीन सेमेस्टर वाली प्रणाली लागू करने के बाद स्टूडेंट्स व टीचर्स दोनों के लिए अच्छा है। इससे दोनों पक्षों के को अतिरिक्त शैक्षिक उन्नति का मौका मिलेगा।

IIIT

IIIT में हर चार महीने होंगी परीक्षा

यही नहीं, इससे स्टूडेंट्स के साल भी बचेंगे। तीन सेमेस्टर वाली प्रणाली लागू होने से अब छह महीने की जगह हर चार महीने में सेमेस्टर एग्जाम होंगे। तीन सेमेस्टर किए जाने से स्टूडेंट्स कम समय में ग्रेजुएशन व पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स पूरा कर सकते हैं।

सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान नवनियुक्त निदेशक प्रो. नागभूषण ने कहा कि वर्ष में तीन सेमेस्टर को लेकर संस्थान श्वेत पत्र जारी करेगा। इसके लिए डीन एवं विभागाध्यक्षों की कमेटी बना दी गई है। साथ ही उन्होंने विजन डाक्यूमेंट बनाए जाने की घोषणा की।

उन्होंने बताया कि ऐसा करने से स्टूडेंट्स बचेगा। बीटेक की आठ सेमेस्टर की पढ़ाई अब ढाई साल में पूरी की जा सकेगी। स्टूडेंट्स को सुविधा होगी कि वह पहले वर्ष में तीन सेमेस्टर पास कर लें और अगले वर्ष दो सेमेस्टर अथवा एक सेमेस्टर की परीक्षा देकर शेष अवधि का उपयोग रिसर्च के काम के साथ भारतीय इंजीनियरिंग सेवा सहित अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी में लगा सकें।

तीन सेमेस्टर की व्यवस्था लागू होने के बाद टीचर्स पर भी बोझ कम होगा। IIIT 2019-20 में अपनी स्थापना के 20 वर्ष पूरा कर रहा है। ऐसे में नई सेमेस्टर प्रणाली को इसी दौरान लागू किए जाने की योजना है। IIIT में इस व्यवस्था को लागू किए जाने के बाद देश के अन्य संस्थान भी इसे अपना सकते हैं।

यह भी पढ़ें : नौबस्ता पुलिस ने शातिर लुटेरों को किया गिरफ्तार

अब देखना ये है कि IIIT की ये योजना कितनी कारागार साबित होती है और इससे स्टूडेंट्स व टीचर्स को क्या फायदा होने वाला है। वैसे देखा जाये तो ये चार सेमेस्टर होना कोई दिक्कत की बात नहीं होगी क्योंकि इससे स्टूडेंट्स को सीधा फायदा है। ऐसे जहां बीटेक करने में चार साल लगते थे अब सिर्फ ढाई साल ही लगेंगे।

loading...
शेयर करें