IMA ने रामदेव को भेजा 1000 करोड़ का मानहानि नोटिस, बोले ’15 दिन में मांगे माफ़ी’

लखनऊ: कोरोना के उपचार के लिए देश के स्वस्थ्य कर्मी 24 घंटे जुटे हैं जिसके बाद भी योग गुरु रामदेव का डॉक्टरों और ऐलोपैथ पर सवाल उठाना शर्मनाक है. इंडियन मेडिकल असोसिएशन IMA की उत्तराखण्ड विंग ने ऐलोपैथी को लेकर आयुर्वेदिक दवा व्यापारी और योग गुरु रामदेव की गलत जुबानी को लेकर उन्हें मानहानि का नोटिस भेजा है. वहीँ उनसे 15 दिन के भीतर क्षमा न मांगने व बयान को सोशल मीडिया प्लेटफार्म से न हटाने पर बाबा के खिलाफ 1 हजार करोड़ की मानहानि का दावा ठोकने की चेतावनी दी है.

इंडियन मेडिकल असोसिएशन IMA उत्तराखंड के प्रदेश सचिव डॉ. अजय खन्ना ने मंगलवार को बाबा रामदेव को 6 पेज का नोटिस भेजा है. इस नोटिस में उन्होंने कहा कि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर बाबा के बयान से IMA उत्तराखंड से जुड़े 2 हजार सदस्यों की मानहानि हुई है. उन्होंने कहा कि एक डॉक्टर की 50 लाख की मानहानि के अनुसार कुल 1000 करोड़ की मानहानि का दावा किया जाएगा.

मानहानि की नोटिस में कहा गया है कि योग गुरु रामदेव ने सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के जरिए ऐलोपैथी डॉक्टरों की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है. ऐसे में उनके खिलाफ मानहानि के दावे के साथ-साथ FIR भी कराई जाएगी. इसके साथ ही नोटिस में गुरु रामदेव को नोटिस मिलने के 76 घंटे के अंदर कोरोनिल किट के भ्रामक विज्ञापन को भी सभी प्लेटफार्म से हटाने को कहा गया है. IMA ने कहा कि बाबा ने भ्रामक विज्ञापन के जरिए कोरोनिल को कोरोना संक्रमण के विरुद्ध प्रभावि दवाई व कोरोना वैक्सीन के दुष्प्रभावों से बचाने वाली दवाई बताया है. उन्होंने कहा कि इस मामले में भी बाबा के खिलाफ IPC की धाराओं के तहत FIR दर्ज कराई जाएगी.

ये भी पढ़ें : EWS कोटा विवाद के चलते बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई ने प्रोफेसर पद से दिया इस्तीफा

Related Articles

Back to top button