IMA हड़ताल: किसानों के बाद अब डॉक्टर भी सरकार से नाराज

आइएमए (IMA) की हड़ताल के तहत गुजरात के भी 25 हजार से अधिक डॉक्टर रहे काम से अलग

अहमदाबाद: आयुर्वेदिक चिकित्सकों (Ayurvedic Practitioners) को सर्जरी की अनुमति देने के लिए केंद्र सरकार के निर्णय के विरोध में आयोजित इंडियन मेडिकल एसोसिएशन आइएमए (IMA) के एक दिवसीय अखिल भारतीय हड़ताल के तहत गुजरात के 25 हज़ार से अधिक निजी एलोपैथिक डॉक्टर आज काम से अलग रहे।

सर्जरी की अनुमति

इन निजी चिकित्सकों ने इमर्जन्सी, कोविड और कुछ अन्य सेवाओं को छोड़ कर सामान्य कामकाज से ख़ुद को अलग रखा है। अहमदाबाद मेडिकल एसोसिएशन के एक सदस्य चिकित्सक ने बताया कि आयुर्वेदिक चिकित्सकों को 58 प्रकार की सर्जरी की अनुमति देना पूरी तरह ग़लत है। सरकार पर इस निर्णय को वापस लेने का दबाव बनाने के लिए आज सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक यह हड़ताल आयोजित की गयी है।

धर्मेंद्र हुए दुखी

किसान आंदोलन से दुखी होकर बॉलीवुड अभिनेता धर्मेंद्र ने ट्वीट कर कहा, ‘मैं अपने किसान भाइयों की पीड़ा देखकर बेहद दुखी हूं। सरकार को इस मामले का जल्द समाधान निकालना चाहिए।’ इससे पहले भी कई बड़ी हस्तियां किसान आंदोलन के समर्थन में आगे आ चुकी हैं।

कृषि मंत्री का बयान

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि ‘बातचीत का रास्ता अभी भी खुला हुआ है। हम हर समस्या पर विचार कर रहे हैं। हमें लगता है कि बात करके समाधान निकाल सकते हैं। मैं इसे लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हूं। सरकार की तरफ से किसानों को प्रस्ताव भेजा गया है। अगर किसानों को कोई दिक्कत है तो वो बात कर सकते हैं।’

यह भी पढ़ेबल्लेबाज रोहित शर्मा की फिटनेस पर हो सकता है फैसला, जानिए BCCI क्या करने वाला है?

यह भी पढ़ेगूगल सर्च 2020 में IPL ने दी कोरोना को मात, जानिए कौन बना Google पर सबसे अधिक सर्च किया जानें वाला व्यक्ति?

Related Articles

Back to top button