डॉक्टरों पर हो रहे हमलों के खिलाफ IMA का देशव्यापी विरोध प्रदर्शन

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में डॉक्टरों पर हो रहे हमलों के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के सदस्यों ने आज देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रहें है, केंद्रीय कानून बनाने की मांग

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है। तीसरी लहर आने पहले से ही तैयारी की जा रही है। जिसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया है। इस अभियान में 1 लाख फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर को खास ट्रेनिंग दी जाएगी। इसी बीच आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विजयवाड़ा में डॉक्टरों (Doctors) पर हो रहे हमलों के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के सदस्यों ने आज देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रहें है।

केंद्रीय कानून बनाने की मांग

तेलंगाना में भी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के कर्मचारियों और डॉक्टरों ने हैदराबाद में IMA कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया है। डॉक्टरों को हिंसा से बचाने के लिए केंद्रीय कानून बनाने की मांग को लेकर एसोसिएशन आज देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रही है। दिल्ली AIIMS में भी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) आज देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रहा है।

IMA के बारे में जानें

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) भारत में चिकित्सकों का एक राष्ट्रीय स्वैच्छिक संगठन है, जो डॉक्टरों के हित या बड़े पैमाने पर समुदाय की भलाई को देखता है या उनकी देखभाल करता है। यह 1928 में स्थापित किया गया था। अखिल भारतीय चिकित्सा संघ के रूप में, 1930 में इसका नाम बदलकर “इंडियन मेडिकल एसोसिएशन” (Indian Medical Association) कर दिया गया। यह सोसाइटीज एक्ट ऑफ इंडिया के तहत पंजीकृत एक सोसायटी है।

भारत में 29 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 1,700 से अधिक सक्रिय स्थानीय शाखाओं के माध्यम से 3,054,580 से अधिक सदस्य डॉक्टरों के साथ, यह भारत में चिकित्सकों और चिकित्सा छात्रों का सबसे बड़ा संघ है। 5 अक्टूबर 2013 को, इंडियन मेडिकल स्टूडेंट्स एसोसिएशन को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के आधिकारिक छात्र विंग के रूप में शामिल किया गया था। यह देश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों से 50,000 से अधिक सदस्य होने का दावा करता है और इसका उद्देश्य भारत में मेडिकल छात्रों के बीच नए प्रयासों को बढ़ावा देना है।

यह भी पढ़ेIndia vs New Zealand WTC Final 2021: खिताबी जंग के लिए दोनों टीमें आमने-सामने

Related Articles