गोवा के समुद्री तटों पर कोरोना संकट का असर, अगले टूरिस्ट सीजन में भी सन्नाटा

गोवा अपने फेमस बीच और सुन्दर समुद्री तटों के साथ उठती गिरती लहरों को देखने के लिए देश विदेश के पर्यटकों के लिए खास जगह है, गोवा घूमने के लिए भरता देश के सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है, जो अपने आकर्षक समुद्र तटों के लिए दुनिया के नक्से में खुद के लिए एक खास जगह बना चुका है।

कोरोना वायरस के प्रकोप से देश और देश के सभी राज्यों की सीमाएं सील कर दी गई हैं। पर्यटकों से गुलजार रहने वाले गोवा पर इसका प्रभाव कुछ ऐसा पड़ा, जैसे समुद्री तट रेगिस्तान में परिवर्तित हो गए हों। यहां के कारोबारियों को अपना कारोबार सीजन की समाप्ति से दो महीने पहले ही समेटना पड़ गया। आमतौर, पर गोवा में मई के अंत तक काफी संख्या में पर्यटक आते रहते हैं।

गोवा में कुछ सर्वश्रेष्ठ समुद्र तट (बीच) भी मौजूद हैं। लोगों को गोवा आने का अलग ही इंटरेस्ट होता है बीच के साथ धूप, रेत और सर्फिंग की इस जगह में मस्ती करना हर जनरेशन के व्यक्ति को पसंद है। आप भी अपनी गोवा की यात्रा के दौरान, गोवा राज्य के उत्तर से दक्षिण तक यहां के अविश्वसनीय समुद्र तटों और बीच का आनंद ले सकते हैं। इस समय लगभग सभी होटल, रिजॉर्ट बुक रहते थे। लेकिन इस बार हालात कुछ और ही है। इस सीजन की शुरुआत भी गिरावट के साथ हुई थी और अंत आपके सामने है।

आपको हम ये बता दें की ऑल गोवा शेक ओनर्स वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष क्रूज कार्डोजो का कहना है कि “ऐसे समय में व्यक्ति यात्रा करने से बचता है। वर्तमान परिस्थितियों में हमारी सभी आजीविका खतरे में हैं।” उनका यह भी कहना है कि विदेशी यात्री पूरे सालभर के लिए भी गोवा में छुट्टियां मनाने आते हैं।

Related Articles