Corona संक्रमितों के लिए जरूरी खबर, जाने कब तक रहना चाहिए होम आइसोलेशन? नही करना होगा…

नई दिल्ली: भारत देश मौजूदा समय कोरोना वायरस की (Corona) दूसरी लहर से जूझ रहा है। देश के अस्पतालों में बेड ही नहीं मिल रहे है और तो और ऑक्सीजन को तो बहुत ही किल्लत है। रोज यहां पर संक्रमण के मामले में इजाफा हो रहा है। जानकर लोग कोरोना (Corona) के हल्के लक्षणों दिखने वाले लोगों को होम आइसोलेशन की सलाह देते है। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल ये है कि एक इंसान को होम आइसोलेशन में कितने वक्त तक रखा जाए?

शुक्रवार को इस सवाल का जवाब स्वास्थ्य मंत्रालय की कोरोना वायरस पर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने दिया। उनका कहना है अगर दस दिन होम आइसोलेशन में रहने के बाद अगर उस मरीज में कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखते हैं और उसे तीन दिनों से बुखार नही आया है तो वो अपना होम आइसोलेशन खत्म कर सकता है।

ये भी पढ़ें: दर्द के बाद China ने लगाया मरहम, राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बढाया मदद का हाथ

टेस्ट कराने की नही जरूरत

इसके अलावा उन्होंने कहा, अगर होम आइसोलेशन खत्म होने के बाद उसे अगर कोई लक्षण नही दिखते है तो उसे टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है। एम्स डायरेक्टर ने बताया है कि बिना किसी डॉक्टर को सलाह के रेमडेसिविर का इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए और इसका इस्तेमाल सिर्फ अस्पतालों में किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें: किसा वरदान से कम नहीं एक ग्लास किशमिश का पानी, इन बीमारियों से रखता है कोसों दूर

इन बातों पर न दें ध्यान

एक और सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा ‘कोरोना एक घोटाला है, मुझे मास्क की जरूरत नहीं है, इस तरह की बातों पर बिल्कुल ध्यान न दें और नियमों का पालन कीजिए क्योंकि हम थक सकते हैं, लेकिन वायरस नहीं थकता है।

 

Related Articles