अमेरिका के राष्ट्रपति को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कुछ इस अंदाज में दिया जवाब, जानें कैसे

नई दिल्ली। अमेरिकी के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अभी हाल ही में कहा था कि पाकिस्तान अमेरिका के लिए कोई काम नहीं करता। ट्रंप ने इस बात पर नाराजगी व्यक्त की थी कि हम लगातार पाकिस्तान को मदद देते रहते है लेकिन पाकिस्तान से हमे कुछ नही मिलता।  अब इस बात का जवाब पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दिया है। इमरान खान ने ट्रंप द्वारा दिये गए इस बयान पर कहा कि पाकिस्‍तान की निंदा के खिलाफ ट्रंप के सामने रिकॉर्ड रखे जाने चाहिए। इस बात पर इमरान खान ने लगातार तीन ट्वीट किये।

इमरान ने कहा कि 9/11 के हमले में कोई भी पाकिस्‍तानी शामिल नहीं था लेकिन पाकिस्‍तान ने अमेरिका के आतंक के खिलाफ लड़ाई में शामिल होने का फैसला किया। इस लड़ाई में 75000 से ज्‍यादा पाकिस्‍तानियों ने जाने गई और हमारे देश की अर्थव्‍यवस्‍था को 123 खरब डॉलर का नुकसान हुआ। और उस वक्त हम  अमेरिकी सहायता मात्र 20 खरब डॉलर मिली थी।

इसके तुरंत बाद इमरान ने दूसरा ट्वीट करके कहा कि कबाइली इलको बर्बाद हो गए और लाखों लोग बेघर हो गए। लड़ाई ने आम पाकिस्‍तानियों की जिंदगी को बुरी तरह प्रभावित किया। फिर भी पाकिस्‍तान अपने जमीनी और हवाई मार्ग उपलब्‍ध कराता रहा है। क्‍या ट्रंप अपने किसी ऐसे सहयोगी का नाम बता सकते हैं जिसने ऐसी कुर्बानियां दी हों?

इसके तुरंत बाद लगातार तीसरे ट्वीट में इमरान ने कहा कि अपनी असफलताओं के लिए पाकिस्‍तान को बली का बकरा बनाने की बजाय अमेरिका को गंभीर मूल्‍यांकन करना चाहिए कि नाटो के 1,40,000 और 2,50,000 अफगान सौनिकों तथा 1 ट्रिलियन डॉलर अफगान युद्ध पर खर्च करने के बावजूद आज तालिबान पहले से ज्‍यादा मजबूत क्‍यों है।

गौरतलब है कि रविवार को अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा था कि पाकिस्‍तान अमेरिका के लिए कुछ नहीं करता। उन्होने कहा कि हम पाकिस्तान का समर्थन कर रहे थे। हम उन्हें एक वर्ष में 1.3 अरब डॉलर दे रहे थे,जो हम उन्हें अब नहीं दे रहे हैं। मैंने इसे समाप्त कर दिया क्योंकि वे हमारे लिए कुछ नहीं करते।

Related Articles