IPL
IPL

श्रीलंका में इमरान खान ने कहा- कश्मीर विवाद को लेकर हमने भारत को भेजा था प्रस्ताव

कोलंबो: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) श्रीलंका का दौरा करने पहुंचे हुए है। कोविड-19 महामारी के बाद से पहले प्रधानमंत्री है जो श्रीलंका पहुंचे है। वें अब श्रीलंका को अरबों डॉलर के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का लालच दें रहे है। श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के साथ सम्मेलन की सह-अध्यक्षता में इमरान खान (Imran Khan) ने कहा, भारत के साथ हमारा सिर्फ कश्मीर को लेकर विवाद है। इस मामले को मात्र वार्ता के माध्यम से सुलझाया जा सकता है। बुधवार को श्रीलंका के साथ पाकिस्तान का सम्मेलन हुआ। इमरान ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री निर्वाचित होने पर साल 2018 में भारत को शांति वार्ता के लिए प्रस्ताव भेजा था, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

इमरान भारत के साथ रिश्ते सामान्य बनाना चाहते थे

इसके आगे उन्होंने कहा, इस महीने यानि फरवरी की शुरुआत में भारत ने कहा था कि वह आतंक, हिंसा और अस्थिरता मुक्त माहौल में पाकिस्तान के साथ रिश्ते सामान्य बनाना चाहता है। पाकिस्तान में जैसे ही मेरी सरकार बनी तो मैंने भारत से संपर्क किया और पीएम मोदी से वार्ता के मध्यम से दोनों देशों के बीच मतभेद खत्म हो सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे कामयाबी नहीं मिली, लेकिन मुझे आशा है कि समझ आएगी। व्यापार संबंध बढ़ाकर ही उपमहाद्वीप में गरीबी मिटाई जा सकती है।’

ये भी पढ़ें : पीएम मोदी ने बताया निजीकरण क्यों है जरूरी? कहा- सरकार का काम कारोबार करना नहीं

पहले दौरे का उद्देश्य

इससे पहले श्रीलंकाई प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के साथ मुलाकात इमरान ने कहा कि उनके इस पहले दौरे का उद्देश्य द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करना है। पाकिस्तान चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव का हिस्सा है, चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) इसका एक ध्वजवाहक कार्यक्रम है। इसके आगे कहा कि सीपीईसी का मतलब मध्य एशिया तक संपर्क कायम होने से है। उन्होंने कहा, ‘श्रीलंका को भविष्य में मध्य एशिया तक पाकिस्तान के साथ होने से फायदा होगा। हमारे कारोबारी संबंधों का मतलब है कि दोनों देश साथ चलेंगे।’

ये भी पढ़ें : PM Kisan Nidhi Scheme: किसानों को मिलेगा लाभ, बजट पर बोले पीएम मोदी

Related Articles

Back to top button