पुलवामा हमले को उपलब्धि बताने वाले इमरान के मंत्री पलटे, बोले- 26 फरवरी का किया था जिक्र

पहले बयान में पुलवामा हमले में पकिस्तान का हाथ होने की बात कहने वाले पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी इस ब्यान से मुकर गए हैं.

इस्लामाबाद: इमरान खान टीम के एक मंत्री की सास पुलवामा हमले को उपलब्धि बताने के बाद फूल गयी है और अब उन्होंने अपने बयान को बदल दिया है. पहले बयान में पुलवामा हमले में पकिस्तान का हाथ होने की बात कहने वाले पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी इस ब्यान से मुकर गए हैं. फवाद ने पहले कहा था की पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए हमले में पाकिस्तान का हाथ था. उन्होंने कहा कि पुलवामा हमला पाकिस्तान की कामयाबी है. फवाद चौधरी ने पुलवामा हमले का श्रेय इमरान खान और उनकी पार्टी PTI को दिया. उन्होंने कहा कि पुलवामा हमला इमरान खान के लिए एक उपलब्धि है.

जिस घटना का जिक्र किया था वो 26 फरवरी का

पाक सरकार में मंत्री फवाद चौधरी ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि उस दौरान दो घटनाये हुयीं थी एक 14 फरवरी को जबकि दूसरी 26 फरवरी को. मैंने अपने संसद के भाषण में जिस घटना का जिक्र किया था वो 26 फरवरी का है. जब भारत ने पाक की सीमा में घुसने की जुर्रत की तो उसके बाद हमने उसका मुंहतोड़ जवाब दिया था. उस दौरान हमारे लड़ाकू जहाजों ने भारत के जहाजों को तबाह किया और अभिनंदन को पकड़ा था.

बता दें कि फवाद चौधरी का यह बयान वहां के सांसद अयाज सादिक के उस खुलासे के बाद आया है, जिसमें उन्होंने पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के उस बयान का जिक्र किया था जिसमें भारत द्वारा पाकिस्तान पर हमले और अभिनंदन को छोड़ने की अपील की थी.

अयाज सादिक ने कहा कि “मुझे याद है कि शाह महमूद कुरैशी उस मीटिंग में थे, जिसमें प्राइम मिनिस्टर साहब ने आने से इंकार कर दिया था। आर्मी चीफ भी मीटिंग में आए थे पैर कांप रहे थे, पसीने माथे पर थे और हमसे शाह महमूद साहब ने कहा था कि खुदा का वास्ता है कि अभिनंदन को वापस जाने दें, चूंकि 9 बजे रात को हिन्दुस्तान पाकिस्तान पर हमला कर रहा है।”

पहले का बयान

ये भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को भेजा नोटिस, अवैध दवाओं की बिक्री को लेकर मांगा हलफ़नामा

Related Articles