पीएम मोदी के किसान संवाद कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बीजेपी एक्शन मोड में

लखनऊ: नए कृषि बिल को लेकर नाराज किसानों को मनाने के लिए प्रधानमंत्री ने भी अपने संवाद कार्यक्रम तेज कर दिए है। इसी के तहत पीएम मोदी भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसम्बर को किसान संवाद कार्यकर्म करेंगे। जिसको सफल बनाने के लिए बीजेपी ने तैयारियां शुरू कर दी है।

उत्तर प्रदेश पार्टी उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह व प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने शनिवार को किसान संवाद कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

इसके साथ ही गोरखपुर, काशी, ब्रज व पश्चिम क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्षों व विधायकों के साथ वर्चुअल माध्यम से बैठक कर संवाद भी किया। पार्टी ने तय किया है कि प्रदेश मे अपने सभी संगठनात्मक मण्डलों सहित 2500 से अधिक स्थानों पर ’’किसान संवाद कार्यक्रम’’ से आमजन और पार्टी कार्यकर्ता सामुहिक रूप से जुड़े।

केंद्र सरकार गरीब, किसान को समर्पित है

प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार गांव, गरीब, किसान को समर्पित सरकार है। उन्होंने कहा कि देश में किसानों के हितों में जितना कार्य मोदी सरकार कर रही है। उतना पहले हुआ होता है तो आज किसानों की स्थिति कहीं बेहतर होती। कृषि क्षेत्र में मोदी सरकार ने बजट आंवटन में महत्वपूर्ण ढ़ग से वृद्धि की है।

यूपीए सरकार के कार्यकाल में 2013-14 के 21933 करोड़ रूपये की तुलना में वर्ष 2020-21 में छह गुना यानि 134399 करोड़ रूपये का बजट दिया।

किसानों के खातों में 95979 करोड़ रूपये का हास्तान्तरण

प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के माध्यम से किसानों के खातों में 95979 करोड़ रूपये का हास्तान्तरण हुआ जिसमें 10.59 करोड़ किसान परिवार लाभान्वित हुआ।

उन्होंने नए कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष द्वारा भ्रम व झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि काफी विचार विर्मश के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी रूप दिया। इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए है बल्कि उन्हें नए अधिकार भी मिले है नए अवसर भी मिले है।

प्रदेश प्रभारी ने कहा कृषि सुधार कानूनों को लेकर विपक्ष भ्रम फैलाकर किसानों को बरगलाने की कोशिश में जुटा है जबकि सच यह है कि एमएसपी मूल्य मिलता रहा है मिलता रहेगा।

किसानों के पास ज्यादा लाभ कमाने का मौका 

किसान अब अपनी फसल कही भी किसी को भी बेंच सकते है और ज्यादा मुनाफा कमा सकते है। उन्होंने कहा मोदी सरकार ने किसानों को समस्त सुविधाएं डिजिटली उपलब्ध कराने के लिये डिजिटल एग्री स्टैक जिसके अंतर्गत यूनिवर्सल फार्मर्स सर्विस इंटरकाम के माध्यम से सभी किसानों को सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएगी।

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि नये कृषि सुधारों में किसानों को न केवल अनेक सुविधाएं प्राप्त होगी बल्कि उन्हें नये अधिकार व अवसर भी मिलेंगे। विपक्ष केवल भ्रम व साजिश की राजनीति कर रहा है। यह स्पष्ट किया जा चुका है कि एमएसपी की व्यवस्था जारी रहेंगी।

यह सब किसानों के हित विकास और सम्मान के प्रति मोदी सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। विपक्ष के लिए किसान वोट बैंक से अधिक कभी कुछ नहीं रहे।

यह भी पढ़ें: पॉलिटेक्निक कॉलेज में मामूली विवाद को लेकर छात्रों के दो गुट आपस में भिड़े, मुक़दमा दर्ज 

Related Articles