नहीं थम रहा बिहार में अपराध, दरिंदों ने नाबालिग को बनाया हवस का शिकार  

0

नवादा। बिहार अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। पहले लालू और नीतीश की सरकार थी तब कहा जाता था कि बिहार में अपराधियों का बोल बाला है। बिहार में जंगलराज है। लेकिन सरकार बदल जाने के बाद भी हालात ऐसे ही बने हुए हैं। क्राइम में कोई कमी नहीं दिखाई दे रही है। ताजा मामला नवादा जिले का है। यहां के सीतामढ़ी थाना क्षेत्र में एक नाबालिग लड़की के साथ पांच लड़कों द्वारा गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि दो अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। पुलिस के अनुसार, पुरनाडीह गांव की रहने वाली एक लड़की की धनगांव गांव के रहने वाले गुड्डु कुमार से पुरानी जान पहचान थी।

बिहार

सभी लड़कों ने उसे जबरदस्ती पकड़ लिया और फिर रेप किया

आरोप है कि मंगलवार शाम 14 वर्षीय लड़की को गुड्डु दीवाली के नाम पर उपहार देने के बहाने से पास के ही एक बाजार ले गया और वहां से उसे लखौरा पहाड़ी ले आया। पीड़िता का कहना है कि उस स्थान पर पहले से ही चार और लड़के मौजूद थे। आरोप है कि सभी लड़कों ने उसे जबरदस्ती पकड़ लिया और फिर रेप किया। लड़कों ने दुष्कर्म का वीडियो भी बना लिया था। इसके बाद पांचों आरोपी पीड़िता को बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गए।

पांच लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है

पीड़िता ने बताया कि होश आने के बाद वह अपने घर पहुंची और परिजनों को पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद घटना की सूचना सीतामढ़ी पुलिस को दी गई। सीतामढ़ी के थाना प्रभारी श्रीकांत कुमार ने बुधवार को बताया कि पीड़िता के बयान पर सामूहिक दुष्कर्म को लेकर एक प्राथमिकी सीतामढ़ी थाना में दर्ज कर ली गई है, जिसमें पांच लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है।

मुख्य आरोपी गुड्डू और एक अन्य आरोपी फरार है

श्रीकांत ने बताया कि इस मामले में तीन आरोपियों-धनगांव के बंटी कुमार, लौन्द गांव के दीपक कुमार उर्फ पिंटू और अनुज कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि मुख्य आरोपी गुड्डू और एक अन्य आरोपी फरार है। उन्होंने बताया कि पीड़िता को चिकित्सकीय जांच के लिए नवादा के सदर अस्पताल भेज दिया गया है तथा पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

loading...
शेयर करें