अमेरिकी पादरी के मामले में तुर्की के साथ गतिरोध को लेकर पीछे नहीं हटेंगे: ट्रंप

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जोर देकर कहा कि वह हिरासत में लिए गए एक अमेरिकी पादरी के मामले में तुर्की के साथ गतिरोध को लेकर पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि जो भी तुर्की कर रहा है, वह दुखद है। मुझे लगता है कि वे एक बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं। इसके लिए कोई रियायत नहीं बरती जाएगी।”

बीबीसी की मंगलवार की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने कहा कि उन्होंने सोचा था कि इजरायल द्वारा हिरासत में लिए गए तुर्की नागरिक को रिहा कराने में अमेरिका द्वारा मदद करने के बाद तुर्की पादरी एंड्रयू ब्रनसन को रिहा कर देगा।

ब्रनसन ने तुर्की के राष्ट्रपति के खिलाफ साजिश रचने के आरोपों को गलत बताया है।

राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगान द्वारा ब्रनसन को रिहा करने से इनकार किए जाने की प्रतिक्रिया में ट्रंप ने तुर्की से इस्पात एवं एल्युमीनियम के आयात पर शुल्क लगा दिए हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने उन चितांओं को दरकिनार कर दिया, जिसमें दोनों नाटो सहयोगियों के बीच विवाद के कारण यूरोप और उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं को गंभीर आर्थिक नुकसान की बात कही जा रही है।

समाचार एजेंसी रायटर्स के साथ सोमवार को ओवल कार्यालय में एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा, “मुझे इसकी कोई चिंता नहीं है। मैं चिंतित नहीं हूं। जो किया, वही बिलकुल सही है।”

Related Articles