इस एक काम के बदले मोदी सरकार दे रही है एक करोड़ रूपए पाने का मौका

दिल्ली:केंद्र सरकार वस्तु एवं सेवा कर (GST) में हेराफेरी के चलते एक नई योजना बनाने जा रही है। जिसमे आप एक करोड़ रुपये पा सकते है। इस योजना की शुरुआत एक अप्रैल 2020 से हो रही है। सरकार जीएसटी व्यवस्था के तहत एक ऐसी लॉटरी शुरू करेगी। जिसमें हर महीने दुकानदार और खरीदार के बीच सौदे के हर बिल को लकी-ड्रॉ में शामिल किया जाएगा। इस लॉटरी में उपभोक्ताओं को एक करोड़ रुपये तक का इनाम मिल सकता है।

अब जानते हैं कि इस इनाम को पाने के लिए आपको क्या करना होगा। इस योजना में भाग लेने के लिए उपभोक्ताओं को किसी भी खरीद की रसीद स्कैन करके अपलोड करनी होगी। इसके लिए जीएसटी नेटवर्क एक मोबाइल एप भी विकसित कर रही है। इस एप के माध्यम से आप रसीद अपलोड कर सकेंगे। मार्च के अंत तक यह एप उपलब्ध हो जाएगी। सबसे पहले लॉटरी में एक प्रथम विजेता के लिए बड़ा इनाम होगा। इसके बाद राज्यों के स्तर पर दूसरे और तीसरे विजेता भी चुने जाएंगे।

इस संदर्भ में एक अधिकारी ने बताया कि यह लॉटरी योजना ग्राहकों को दुकानों से हर खरीद का बिल व रसीद मांगने को प्रात्साहित करने के लिए बनाई जा रही है। इससे सरकार को जीएसटी की चोरी रोकने में मदद मिलेगी। इसमें हिस्सा लेने के लिए रसीद न्यूनतम या अधिकतम किसी भी राशि की हो सकती है।

इस लॉटरी में लाख रुपये से एक करोड़ रुपये तक के इनाम रखे जा सकते हैं। 14 मार्च की बैठक में जीएसटी परिषद इस योजना पर अपना मत दे सकती है। बता दें कि लॉटरी का पैसा मुनाफाखोरी के मामलों में जुर्माने से आएगा।

Related Articles