सच में,मेरी जैसी बेटी किसी घर में पैदा नहीं होनी चाहिए,जो दबाव मैंने झेला,किसी को न झेलना पड़े

मैं जब जयपुर में थी तो मेरे साथ मां को भेज दिया गया ताकि यह कोई ऐसा काम ना करे जो मेरे मन के खिलाफ हो। साक्षी ने यह भी आरोप लगाया कि जिस तरह मेरे भाई को सारी छूट दी जाती थी वो मुझे कभी नहीं दी गई। जो लोग मेरे बारे में गलत-गलत बातें कर रहे हैं उन्हें आप क्यों नहीं रोकते। मेरे बारे में आपके लोग सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक बातें लिख रहे हैं उन्हें आप क्यों नहीं रोकते।

साक्षी ने आगे कहा कि बार-बार कहा जा रहा है कि मेरी जैसी बेटी ना पैदा हो, तो मैं कह रही हूं, हां सच में, मेरी जैसी बेटी किसी घर में पैदा नहीं होनी चाहिए। क्योंकि जितना दुख और दबाव मैंने झेला है वो किसी और को ना झेलना पड़े। ये कहना है कि बीजेपी विधायक की बेटी साक्षी का।जिसने अपनी मर्जी से एक दलित लड़के से शादी कर ली। साक्षी ने अपने पापा से कहा कि आपके आदमी हमें ढूंढ रहे हैं और हम पर इल्जाम लगा रहे हैं, आप उन्हें क्यों नहीं रोक रहे हैं।

जब विधायक से पूछा गया कि उन्होंने बेटी के मन की बात क्यों नहीं सुनी तो उन्होंने कहा कि मेरी तरफ से उसे कोई खतरा नहीं होगा। हालांकि, जब बेटी ने उनसे सवाल पूछे तो वे उसका जवाब नहीं दे पाए। साक्षी ने अपने पिता से कहा कि आपके आदमी हमें ढूंढ रहे हैं और हम पर इल्जाम लगा रहे हैं, आप उन्हें क्यों नहीं रोक रहे हैं। बार-बार यह कहा जा रहा है कि मेरी जैसी बेटी ना पैदा हो, तो मैं कह रही हूं, हां सच में, मेरी जैसी बेटी किसी घर में पैदा नहीं होनी चाहिए। क्योंकि जितना दुख और दबाव मैंने झेला है वो किसी और को ना झेलना पड़े।

साक्षी के पिता विधायक राजेश मिश्रा ज्यादा बात नहीं कर पाए। उन्होंने  फोन काट दिया और शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि आप लोग जहां रहें खुश रहें। मेरी तरफ से आपको कोई खतरा नहीं आएगा। हालांकि उन्होंने इस बात का जवाब नहीं दिया कि क्या आप अपनी बेटी को अपनाएंगे या नहीं।

Related Articles