कुशीनगर में अब पडरौना से वाल्मीकिनगर जाना होगा आसान

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में बड़ी गंडक नहर की पटरी पर टू-लेन सड़क बनेगी। इससे पड़रौना से नेपाल बॉर्डर पर स्थित वाल्मीकिनगर तक पहुंचाना आसान होगा।

कुशीनगर:  उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में बड़ी गंडक नहर की पटरी पर टू-लेन सड़क बनेगी। इससे पडरौना से नेपाल बॉर्डर पर स्थित वाल्मीकिनगर तक पहुंचाना आसान होगा।

इसके अलावा खिरकिया-जटहां, नेबुआ-जटहां और ढोलहा-घुघली मार्ग का भी चौड़ीकरण होगा। सांसद के प्रस्ताव पर लोक निर्माण मंत्री ने इसकी मंजूरी दे दी है। करीब 200 करोड़ की लागत से बनने वाली इन सड़कों के लिए जल्द ही टेंडर निकाला जाएगा। नेपाल बॉर्डर स्थित वाल्मीकिनगर से पडरौना होते हुए मुख्य पश्चिमी गंडक नहर बिहार के गोपालगंज जिले में जाती है। इस नहर की एक पटरी पहले से पिच है।

सांसद विजय कुमार दूबे ने दिया ये प्रस्ताव

सांसद विजय कुमार दूबे ने प्रस्ताव दिया था कि अगर इस पटरी को टू-लेन सड़क में तब्दील कर दिया जाए तो पडरौना से महराजगंज व वाल्मीकिनगर तक आना-जाना आसान होगा। इस रास्ते कुशीनगर के लोग आसानी से नेपाल की यात्रा कर सकते हैं तो वहीं नेपाल के लोग कुशीनगर के पर्यटन स्थल समेत एयरपोर्ट तक आसानी से आ-जा सकेंगे।

लगभग 50 किलोमीटर लंबी इस सड़क के निर्माण पर 75.65 करोड़ रुपये खर्च होंगे।इसके अलावा कई वर्षों से जर्जर खिरकिया-जटहां मार्ग और नेबुआ-जटहां मार्ग के भी चौड़ीकरण की मंजूरी मिल गई है। खिरकिया जटहां बाजार मार्ग के निर्माण पर भी करीब 25 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

महराजगंज जिले तक इसका लाभ

इसके अलावा ढोलहा-घुघली मार्ग के भी चौड़ीकरण की मंजूरी मिल गई है। इस सड़क के बन जाने से नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के लोगों को महराजगंज जिले में आने-जाने में आसानी होगी। इन सड़कों का निर्माण लोक निर्माण विभाग देवरिया की तरफ से कराया जाएगा।

यह भी पढ़े:WHO ने कहा, ‘अमीर देश गरीब देशों को वैक्सीन आपूर्ति में मदद करें’

यह भी पढ़े:‘प्रधानमंत्री के राज्य से निकला गुजरात मॉडल है तानाशाह मॉडल’

Related Articles

Back to top button