राजस्थान में न्याय न मिलने से दुष्कर्म पीड़िता ने थाने में लगाई खुद को आग

जयपुर: राजस्थान के जयपुर में न्याय न मिलने से दुखी एक 35 वर्षीय दुष्कर्म की पीड़िता ने थाने में खुद को आग लगा ली। पुलिस के इस बर्ताव से लोगों को ठेस पहुची है। वैशाली नगर थाने में बलात्कार के मामले में कार्रवाई नहीं होने से पीड़िता दुखी थी। रविवार देर शाम हुई इस घटना में महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। 

दुष्कर्म पीड़िता को न्याय न मिलने के कारण उठाया कदम

अमेरिकी विदेशमंत्री पोम्पियो को ईरान से तनाव कम करने की नहीं मिली इजाजत

दुष्कर्म पीड़िता का आरोप है कि पुलिस आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है और मामला वापस लेने के लिए दबाव बना रही है। पीड़िता को जली हुई अवस्था में सवाई मान सिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।
पीड़ित महिला के पति ने कहा कि मेरी पत्नी ने दो महीने पहले 29 साल के शख्स के खिलाफ दुष्कर्म की एफआईआर दर्ज कराई थी। लेकिन अब तक पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है। उलटे पुलिस वाले मेरी पत्नी के साथ ऐसा बर्ताव कर रहे हैं जैसे वही दोषी हो।
वहीं, दूसरी तरफ पुलिस का कहना है कि रविवार को वह अपने बेटे के साथ पुलिस स्टेशन आई। अचानक उसने आग लगा ली। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। एक मैजिस्ट्रेट ने अस्पताल पहुंचकर महिला का बयान कर्ज कर लिया है।

Related Articles