सोना पाने की चाह में घरवालों को लगा चूना, तांत्रिक ने ठगे नौ लाख

मुरादाबाद: घर में खजाना निकालने का झांसा देकर एक तांत्रिक ने साले-बहनोई समेत चार लोगों से नौ लाख रुपए ऐठ लिए। पूरे मामले में थाना डिलारी के ग्राम चांदखेड़ी निवासी इफ्तेखार हुसैन ने एसएसपी को शिकायती पत्र देकर कहा कि संभल के थाना असमोली क्षेत्र के बिलालपत गांव में उनकी ससुराल है। सितंबर 2019 में बीमार होने पर उनकी पत्नी का भाई थाना कटघर में रहने वाले एक तांत्रिक के पास इलाज कराने गया था। दवा खाने से साथ ही साईम झाड़फूंक कराने तांत्रिक के पास जाता था।

इस बीच तांत्रिक ने साईम को अपने झांसे में लेते हुए कहा कि चंदौसी के एक गांव में रहने वाले उनके एक मरीज के घर खजाना दबा हुआ है। वहीं तांत्रिक साईम को उसके घर ले गया व रात भर उसे अपने साथ रखा। वहां उसने दो घड़ों में पीले रंग के सिक्के उसके घर का एक हिस्सा खोदकर दिखा दिए। जिसके बाद साईम को तांत्रिक की बातों पर यकीन हो गया। फिर अगले दिन तांत्रिक ने साईम को बुलाकर समझाया कि अगर तुम चाहो तो यह खजाना हमें मिल जाएगा। लेकिन  इस पर करीब 9 लाख रुपए खर्च होंगे।

तुम्हारे या किसी रिश्तेदार के घर में खींचकर निकाल दूंगा। इसके लिए खजाने को खुशबू देने होगी। वह खुशबू का सामान डेढ़ लाख रुपए की एक तोला (10 ग्राम) मिलती है। वहीं खजाने के लालच में आकर साईम तुरंत उनके यहां आ गया। उसने उसे और उनकी पत्नी को खजाने की जानकारी दी। साईम ने संभल के ही तालिब को अपने साथ मिला लिया। पाकबड़ा के एक डॉक्टर को इसका राजदार बनाकर चारों लोगों ने एक मई को तांत्रिक को साढ़े चार लाख रुपए दे दिए। बाकी साढ़े चार लाख रुपए चार मई को दिए।

जिसके अगले दिन खजाना निकालने के लिए फोन किया, तो तांत्रिक टाल-मटोल करने लगा और वह पुलिस चौकी पहुंच गया। जहां तांत्रिक ने उन पर गंभीर आरोप लगाकर शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की। इस दौरान मामले का खुलासा हो गया। वहां से जैसे-तैसे तांत्रिक छूटकर घर आया।

पोल खुलने पर तांत्रिक ने पंचायत में सारी रकम लौटाने का वादा किया लेकिन, एक लाख 40 हजार रुपये ही वापस किए। तांत्रिक और उसके सहयोगियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को तहरीर दे दी गई। हालांकि अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है।  तांत्रिक के अलावा एक गांव का प्रधान और उसका चेला भी इस ठगी में शामिल हैं। तांत्रिक ने और भी कई लोगों के साथ इसी तरह से ठगी की है।

Related Articles