फिल्म इंडस्ट्री में होता है भेदभाव, सैफ अली खान बोले- मैं भी रहा हूं नेपोटिज्म का..

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत के निधन के फिल्म इंडस्ट्री में एक बार फिर नेपोटिज्म यानि की भाई-भतीजावाद की चर्चा शुरु हो चुकी है। जहां कुछ सितारों ने नेपोटिज्म से यह कहकर मुंह फेर लिया कि यह हर जगह होता है। वहीं, अभिनेता सैफ अली खान ने बातों बात में एक ऐसा बयान दे दिया है, जिसके लिए वो जबरदस्त ट्रोल हो रहे हैं।

सैफ ने कहा कि मैं भी नेपोटिज्म का शिकार रहा हूं। सैफ अली खान ने कहा, “भारत में असमानता है, जिसे सामने लाने की जरूरत है। परिवारवाद, पक्षपात और कैंप कई तरह के विषय यहां मौजूद हैं। यहां तक कि मैं भी नेपोटिज्म का शिकार हो चुका हूं, लेकिन किसी ने इस पर बात करने की दिलचस्पी नहीं दिखाई। मैं किसी का नाम नहीं लूंगा, लेकिन किसी के पिता का कॉल आया कि उसे फिल्म में मत लो, मेरे बेटे को लो.. बिजनेस ऐसे ही चलता है।”

सैफ ने आगे कहा, “मुझे खुशी है कि फिल्म संस्थानों के और लोग भी सामने आए हैं। नवाजुद्दीन और पंकज त्रिपाठी जैसे कलाकार आज हर घर चर्चित नाम हैं। नेपोटिज्म है और चलता रहता है। मैं भी इससे गुजर चुका हूं।” हो गए ट्रोल अपने नेपोटिज्म वाले बयान को लेकर सैफ अब सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से ट्रोल हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि शर्मिला टगौर और मंसूर अली खान पटौदी के बेटे होकर आप ये कैसे कह सकते हैं।

बता दें, शर्मिला टगौर सुपरहिट अभिनेत्री रही हैं, और भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रह चुके हैं। नेपोटिज्म कहना गलत है! नेपोटिज्म का मतलब होता है परिवारवाद.. जाहिर है सैफ अली खान परिवारवाद का शिकार तो नहीं हो सकते हैं। पक्षपात हो सकता है.. फेवरिटज्म.. अनन्या भी हो गईं ट्रोल कुछ दिनों पहले एक इंटरव्यू में अनन्या पांडे ने कहा था कि उन्होंने यहां तक पहुंचने के लिए बहुत संघर्ष किया है। जिसे लोगों ने सैफ के नेपोटिज्म बयान से जोड़ दिया है। कुछ फैंस ने दिया साथ वहीं, कुछ फैंस ने सैफ का साथ देते हुए कहा कि सैफ भी पक्षपात का शिकार रहे हैं.. सलमान, आमिर की तुलना में सैफ ज्यादा बुद्धिमान हैं।

उनकी फिल्मों की च्वॉइस हमेशा अलग रही है। याद दिलाया नेशनल अवार्ड वहीं, कुछ फैंस ने सैफ अली खान को नेशनल अवार्ड याद दिलाया.. जो उन्हें फिल्म हम- तुम के लिए मिला था। जिस साल सैफ को नेशनल अवार्ड दिया गया था ज्यूरी में शर्मिला टगौर थीं। इस बात को लेकर उस वक्त भी काफी बवाल मचा था।

Related Articles