यूपी में अगले कुछ घंटो में आंधी-तूफान के साथ बारिश का अनुमान बताया जा रहा की..

नई दिल्ली: मौसम विभाग अगले दो घंटे में उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में आंधी-तूफान के साथ -साथ बारिश का अनुमान जताया जा रहा है। बता दे की समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ और कासगंज, हरियाणा के रेवाड़ी, बावल, मानेसर, गुरुग्राम, रोहतक, भिवाड़ी, नूंह, सोहना, पलवल, फरीदाबाद और बल्लभगढ़ के अलावा दक्षिण-पश्चिम दिल्ली और पश्चिम दिल्ली में आंधी-तूफान के साथ बारिश  का अनुमान जताया है।अगले 24 घंटे में  गुजरात, दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार के पूर्वी भाग, झारखंड, उत्तरी छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली निजी एजेंसी स्‍काई मेट वेदर ने इसकी जानकारी दी है।स्‍काई मेट वेदर के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, दक्षिण छत्तीसगढ़, विदर्भ, मराठवाड़ा, तटीय कर्नाटक, दक्षिण कोंकण और गोवा और गंगीय पश्चिम बंगाल में भारी से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। केरल, आंतरिक महाराष्ट्र, तटीय ओडिशा, आंतरिक कर्नाटक और उत्तर पूर्व भारत में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।मानसून ने शुक्रवार सुबह बंगाल में दस्तक दे दी। कोलकाता समेत राज्य के विभिन्न जिलों में बारिश शुरू हो गई है। आइएमडी के उपमहानिदेशक आनंद शर्मा ने कहा कि मानसून सही गति से आगे बढ़ रहा है। कर्नाटक और महाराष्ट्र के काफी हिस्से में यह पहुंच गया है। इतना ही नहीं, इसने ओडिशा के शेष हिस्से में भी दस्तक दे दी है। आगामी 48 घंटे में यह छत्तीसगढ़ के ज्यादातर हिस्से के साथ ही गुजरात और मध्य प्रदेश के दक्षिणी हिस्से के अलावा बिहार में भी पहुंच जाएगा।

दिल्ली को मानसून के लिए अभी लंबा इंतजार करना पड़ेगा

हालांकि, देश की राजधानी दिल्ली को मानसून के लिए अभी लंबा इंतजार करना पड़ेगा। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक शर्मा ने कहा है कि हमें अभी यह देखना होगा कि यह मध्य प्रदेश और उसके बाद उत्तर प्रदेश में कब प्रवेश करता है। इसके बाद ही यह दिल्ली में दस्तक देगा।

अच्छी बारिश का अनुमान

मौसम विज्ञानियों ने आने वाले दिनों में बंगाल में अच्छी बारिश का अनुमान जताया है। पूरे जून महीने में देशभर में भी अच्छी बारिश होगी, जो खरीफ फसल की खेती में मददगार होगी। उधर, दक्षिण-पश्चिम मानसूनी हवाएं सिक्किम के सभी क्षेत्रों में भी प्रवेश कर गई हैं।

Related Articles

Back to top button