ऐमनेस्टी की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, रोहिंग्या आतंकियों ने म्यांमार में किया था हिंंदुओं का कत्लेआम

0

यंगून। मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपनी रिपोर्ट ने इस बात का खुलासा किया है कि म्यांमार के अशांत रखाइन प्रांत में पिछले साल भड़की हिंसा में रोहिंग्या आतंकियों ने 99 हिन्दुओं की हत्या कर दी थी।

rohingya muslim

मानवाधिकार संगठन की रिपोर्ट में पाया गया है कि यह नरसंहार 25 अगस्त 2017 को हुआ था। यह वही दिन था जिस दिन रोहिंग्या उग्रवादियों ने पुलिस पोस्ट्स पर हमले किए थे और राज्य में संकट शुरू हो गया था।

इस घटना के बाद म्यांमार की सेना ने रोहिंग्या आतंकियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर सैन्य अभियान चलाया था। इसके चलते करीब सात लाख रोहिग्या मुस्लिमों को बौद्ध बहुल म्यांमार से पलायन कर बांग्लादेश जाना पड़ा था।

म्यांमार की सेना बीते सितंबर में पत्रकारों को उस इलाके में लेकर गई थी जहां कई सामूहिक कब्र मिली थीं। आतंकियों के संगठन अराकान रोहिया साल्वेशन आर्मी (एआरएसए) ने इन आरोपों से इन्कार किया था। लेकिन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बुधवार को कहा कि नई जांच से इसकी पुष्टि होती है कि इस संगठन ने एक गांव में 53 हिंंदुओं को मार डाला था। इनमें ज्यादातर बच्चे थे। इस नरसंहार को उत्तरी मोंग्डाव के खा मंग सेक गांव में अंजाम दिया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, उसी दिन समीप के ये बौक क्यार गांव से 46 हिंंदू पुरुष, महिलाएं और बच्चे गायब हो गए थे। स्थानीय हिंंदुओं के अनुसार, एआरएसए ने उनकी भी हत्या कर दी थी।

loading...
शेयर करें