बदलते मौसम में फटी एड़ियों से पाए इन सरल तरीको से निजात

0

नई दिल्ली। हमारे शरीर का हर एक अंग बहुत जरुरी होता हैं फिर चाहे वो फेस हो या पैर। आपने कभी नोटिस किया हैं जब भी आप किसी को देखते हो तो सबसे पहले आपकी नजर उसके पैरों की तरफ जाती हैं। ये नैचुरली हैं कि जब भी आप लोगों को निहारते हैं या लोग आपको निहारते हैं तो वे सिर्फ आपका चेहरा नहीं देखते बल्कि ऊपर से नीचे तक आपको देखते हैं।

फटी एड़ियों

एड़ी फटने के पीछे कई कारण हैं, मसलन पैरों की सही से देखभाल ना करना, नंगे पैर चलना और खून की कमी के कारण भी पैर फट जाते हैं। एड़ी के फटने पर वैसे तो लोग दूसरों के सामने शर्मिंदा महसूस करते हैं लेकिन इस ओर अच्छी तरह से ध्यान नहीं देते हैं। एड़ियां फटने के बाद उनकी देखभाल न की जाए तो खून निकलने लगता और बहुत दर्द होता है।

कुछ लोगों को सर्दियों में यह समस्या होती है जबकि कुछ लोग पूरे साल एड़ियों के फटने से परेशान होते हैं। शुरुआत में फटी एड़ियों से हो सकता है आपको कोई परेशानी न हो पर जैसे जैसे समय गुज़रता जाता है इनमे दर्द होने लगता है। लेकिन शुरुआत में ही थोड़ी सी सावधानी से इस परेशानी से बचा जा सकता है। अगर आप प्रेजेंटेबल दिखना चाहती हैं तो एड़ियों को छुपायें नहीं बल्कि उनकी केयर करें। आइये जानते हैं फटी एड़ियों से बचाव कैसे करे।

फटी एड़ियों से करे ऐसे बचाव-

-अपने पैरों में जरूरी नरमी बनाए रखें। एक अच्छा माश्‍चराइज़र लगाने के बाद सूती मोज़े पहनें। इससे पैरों में जरूरी नमी बरकरार रहती है। आप चाहें तो वनस्पति तेल भी लगा सकती हैं।
-आरामदेह जूते पहनें। आपके जूते न तो अधिक टाइट होने चाहिए और न ही बहुत अधिक ढीले। सख्‍त जूते आपके पैरों के दर्द को बढ़ा सकते हैं।
-पैरों को साफ करने के लिए एंटी-सेप्टिक युक्‍त साबुन का इस्‍तेमाल करें। इससे आपके पैरों की सूखी त्‍वचा को तो आराम मिलेगा ही साथ ही कीटाणुओं से भी पैरों की रक्षा होगी।
-त्‍वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए प्युमैस स्‍टोन का प्रयोग करें। यह ऐसी सख्‍त त्‍वचा को हटाने का काम करता है जो बाद में टूट सकती है। इसे इस्‍तेमाल करते हुए इस बात का ध्‍यान रखें कि आप इतनी जोर से न रगड़ें कि दर्द होने लग जाए।
-पैरों पर कटा नीबू रगड़ने से वे नरम बने रहते हैं। हफ्ते में कम से कम एक बार अपने पैरों को नींबू से साफ करें। आप अपने पैरों को गर्म पानी के टब में भी डुबो सकते हैं जिसमे की 1 कप इप्सम नमक मिला हुआ हो।
अपने पैरों को गीला न रखें। पैरों को अच्‍छी तरह सुखाने के बाद उन पर कुछ लोशन लगाएं। जिससे आपके पैर मुलायम बने रहें।
-अपनी सूखी त्वचा को कैंची से काटने को कोशिश न करें। इससे आसपास की त्‍वचा भी निकल सकती है। ऐसा करना कई बार काफी तकलीफदेह भी होता है। और साथ ही इससे त्‍वचा में संक्रमण होने का खतरा भी होता है।
-रोजाना कम से कम आठ से दस‍ गिलास पानी पिएं। इसके साथ ही कैफीन और एल्‍कोहल से भी परहेज करें क्‍योंकि इनका अधिक सेवन शरीर में जल की मात्रा को कम कर देता है।
-कभी वक्‍त की कमी तो कभी किसी अन्‍य कारण के चलते आप अपनी सूखी त्‍वचा का सही प्रकार से उपचार नहीं कर पाते हैं। कई बार यह सब करने के बाद भी अपेक्षाकृत परिणाम नहीं मिलते हैं। तो ऐसे में आपको चाहिए कि आप किसी त्‍वचा रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें।

loading...
शेयर करें