उत्तराखंड के मंत्रियों और विधायकों की हुई बल्ले-बल्ले, MLA का वेतन ट्रिपल तो मंत्री की सैलरी हुई डबल

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा ने विधायकों के वेतन भत्तों में बढ़ोतरी को लेकर विविध संशोधन विधेयक पास कर दिया है। इस विधेयक को शनिवार को ही सदन में प्रस्तुत किया गया था, जिसे बजट सत्र के आखिरी दिन पास किया गया। विधायक लंबे वक़्त से भत्ता बढ़ाने की मांग कर रहें थे।

uk

विविध संशोधन विधेयक के पास होने के बाद से प्रदेश के विधायकों की सैलरी में तीन गुना व भत्तों में छह गुना तक की बढ़ोतरी की गई है। अब विधायकों का वेतन 10 हजार रुपए से बढ़ाकर 30 हजार रुपए किया गया है। सबसे खास बात ये कि विधायकों की सैलरी के साथ जुड़े भत्ते को भी दोगुना से तीन गुना तक बढ़ा दिए गया हैं।

वही मंत्रियों का वेतन 45 हज़ार से बढ़ाकर 90 हज़ार रुपए और स्पीकर का वेतन 55,000 हज़ार से बढ़ाकर 1.10 लाख रूपए कर दी गई है।

इतना ही नहीं अब राज्य के विधायकों को भवन निर्माण के लिए 50 लाख रुपए और वाहन खरीदने के लिए 15 लाख का क़र्ज़ दिया जाएगा। इनका इंटरेस्ट रेट एसबीआई के सामान रहेगी। इसके अलावा इनके पेंशन में भी दो गुना इजाफा किया गया है। अब इनके पेंशन खाते में 20 हज़ार से बढ़कर 40 हज़ार जमा होंगे और 5 वर्षों बाद इन्हें दो लाख रुपए पेंशन के रूप में दिया जाएगा।

विधायकों के बाकी भत्तों को भी 10 हज़ार से बढ़ाकर 20 हज़ार किया गया है। अब तक इनको हर महीने वेतन भत्ते के रूप में 1.57 लाख मिलता था, अब इन्हें 2.75 लाख रुपए मिलेगा।

आपको बता दे कि विधायकों को वेतन के अलावा कई तरह की सुविधाएं भी मिलती है। एक विधायक को रेल और हवाई जहाज का एक साल में तीन कूपन मिलता है। इसके अलावा विधायक और उनके परिवार को चिकित्सा, दो मोबाइल फ़ोन, एक टेलीफोन के अलावा भवन निर्माण और वाहन क्रय के लिए आठ-आठ लाख लोन की भी सुविधा मिलती है।

Related Articles