IPL
IPL

लोहड़ी का पावन त्योहार किन-किन राज्यों में मनाया जाता है, क्या खुबसूरती है इस पर्व की

मकर संक्राति के ठीक एक दिन पहले लोहड़ी का पावन त्योहार मनाया जाता है। भारत में पंजाब,  हरियाणा और जम्मू कश्मीर के कुछ हिस्सों में इस पर्व को बड़े ही धूम - धाम से मनाया जाता है।

नई दिल्ली: मकर संक्राति के ठीक एक दिन पहले लोहड़ी का पावन त्योहार मनाया जाता है। भारत में पंजाब,  हरियाणा और जम्मू कश्मीर के कुछ हिस्सों में इस पर्व को बड़े ही धूम – धाम से मनाया जाता है। इस पावन दिन लकड़ियों और उपलों से आग जलाते हैं और उस आग के चारों तरफ परिक्रमा की जाती है।

लोहड़ी के पावन दिन नई फसल को काटा जाता है और काटी हुई फसल का भोग सबसे पहले अग्नि को लगाया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अग्नि में भोग डालकर भगवान को भोग लगाया जाता है। लोहड़ी के पावन पर्व की शुभकामनाएं देने के लिए लोग अपनों को खूबसूरत संदेश भी भेजते हैं।

आप इन खूबसूरत संदेशों के जरिए भी अपनों को शुभकामनाएं भेज सकते हैं। लोहड़ी मुख्य रूप से सिखों और हिंदुओं द्वारा भारत में पंजाब क्षेत्र में मनाई जाती है। हर साल, त्योहार मकर संक्रांति से पहले की रात को मनाया जाता है,  जो कि चंद्र विक्रम कैलेंडर के भाग के अनुसार होता है।इस साल, मिडविन्टर फेस्टिवल 13 जनवरी को मनाया जा रहा है।

लोहड़ी कैसे मनाना चाहिए

यहां तक ​​कि कोविद -19 (Covid-19) महामारी के दौरान, लोहड़ी की भावना के रूप में लोग अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों के साथ ज़ूम पर इकट्ठा होते है। इसके पीछे मान्यता ये है कि धान (चावल) के उत्पादन के बाद किसान प्रकृति को धन्यवाद देते हैं। इसी को लोहड़ी का नाम दिया गया हैं। इस दिन शाम को ढ़ोल ताशों के साथ भांगड़ा -गिद्धा पर लड़के – लड़किया आग के चारो ओर नाचते हैं। रवडिया, मुंगफलियां बांटे जाती हैं, अपने परिजनों दोस्तो के साथ मौज – मस्ती करते हैं।

यह भी पढ़े:देश के इन उद्योगपतियों ने WhatsApp को बोला Bye, इस ऐप को किया Hii

यह भी पढ़े:पौराणिक मान्यताओं के अनुसार क्यों मनाया जाता है मकर संक्रान्ति (Makar Sankranti), किन किन चीजों का करें दान

Related Articles

Back to top button