आयकर विभाग ने फॉर्म-16 में किया बड़ा बदलाव

देश के ज्यादातर लोग अधिक से अधिक टैक्स बचाने के लिए जीतोड़ मेहनत करते है. ऐसा इसलिए क्योकि योजनाबद्ध तरीके से टैक्स बचाना और अधिकतम रिटर्न कमाना एक मुश्किल काम समझा जाता है. इस बीच आयकर विभाग ने टैक्स चोरी पर लगाम लगाने के लिए फार्म 16 के प्रारूप को संशोधित किया है. इसके कारण अब नौकरीपेशा लोगों के पास टैक्स में घपला करने का विकल्प नहीं बचेगा.

आयकर विभाग ने टीडीएस सर्टिफिकेट यानी फार्म-16 में मकान से आय तथा अन्य नियोक्ताओं से प्राप्त पारितोषिक समेत विभिन्न बातों को जोड़ा है. इस तरह से इसे अधिक व्यापक बनाया गया है ताकि कर देने से बचने पर लगाम लगाया जाए.

इसमें विभिन्न कर बचत योजनाओं, कर बचत उत्पादों में निवेश के संदर्भ में कर कटौती, कर्मचारी द्वारा प्राप्त विभिन्न भत्ते के साथ अन्य स्रोत से प्राप्त आय के संदर्भ में अलग-अलग सूचना भी शामिल होगी. यह बदलाव 12 मई 2019 से प्रभाव में आएगा.

Related Articles