बीजेपी नेता पर चला आयकर विभाग का चाबुक, मिली करोड़ों की काली संपत्ति

नई दिल्ली: वर्ष 2016 में हुई नोटबंदी के बाद से करोड़ों रुपये के काले धन पर पर्दा उठा चुकी आयकर विभाग की रडार में इस बार एक बीजेपी नेता फंसे हैं। दरअसल, आयकर विभाग ने बीजेपी नेता पर चाबुक चलाते हुए करोड़ों रुपये की संपत्ति जब्त की है। बीजेपी नेता पर शिकंजा कसते हुए विभाग ने कई ठिकानों पर छापेमारी की, जो नोएडा, गाजियाबाद और मोदीनगर में स्थित थे। इसके अलावा आयकर विभाग ने कई अन्य दिग्गजों के यहां भी छापेमारी की है।

मिली जानकारी के अनुसार, आयकर विभाग को बीजेपी नेता के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की जानकारी मिली थी। इसके बाद विभाग ने इस छापेमारी की घटना को अंजाम दिया था। यह छापेमारी दो दिनों तक चली। जिसमें 50 करोड़ की संपत्ति हासिल हुई। इसके जायदाद और ज्वैलरी शामिल है। आईटी विभाग ने कुल एक करोड़ की ज्वैलरी और कैश जब्त की है।

रिपोर्ट के मुताबिक ये छापेमारी गुरुवार (28 जून) सुबह से ही चल रही थी। आयकर विभाग ने मोदीनगर इलाके में बीजेपी नेता के यहां 30 घंटे तक दस्तावेजों को खंगाला। इसके बाद इन संपत्तियों का खुलासा हुआ। बीजेपी नेता के घर छापे में पता चला है कि इस नेता की एक महिला मित्र भी है, जिसके नाम से कई फ्लैट और जमीन के प्लॉट रजिस्टर्ड हैं।

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी का ये नेता 2012 में विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका है। छापे की कार्रवाई के दौरान इस शख्स के दो फैक्ट्रियों से भी दस्तावेज जब्त किये गये हैं। इस शख्स की नोएडा में भी फैक्ट्रियां हैं, आयकर विभाग इसकी भी जांच कर रहा है। आयकर विभाग ने हाथ में आए दस्तावेजों के आधार पर इन लोगों से कमाई का ब्यौरा मांगा है। इनकम टैक्स सूत्रों के मुताबिक यहां पर कई लोगों ने टैक्स चोरी की है।

इसके अलावा आयकर विभाग ने एक डॉक्टर दंपत्ति और एक पेट्रोल पम्प में मालिक पर भी छापेमारी का चाबुक चलाया। इस मामले में जिस डॉक्टर का नाम आया है, उसने ओपीडी में किये गये मरीजों से हिए कमाई का ब्यौरा नहीं दिया है। इस डॉक्टर ने पिछले 10 साल से ओपीडी पेशेंट के इलाज से होने वाले कमाई का ब्यौरा नहीं दिया है। उसके अलावा अस्पताल में भी इसने कम मरीजों का इलाज दिखाया है।

 

Related Articles