श्रीनगर में ईद की खरीदारी को लेकर बहार में बढ़ी भीड़

0

श्रीनगर: ईद-उल-फितर से पहले खरीदारी का खुमार यहां व जम्मू एवं कश्मीर के दूसरे शहरों में गुरुवार को अफरा-तफरी के माहौल में बदल गया। ऐसा ईद के चांद के शाम को दिखाई देने की खबर के बाद दुकानों पर लोगों की भीड़ बढ़ने की वजह से हुआ।

 जम्मू एवं कश्मीर

लोग त्योहार के शनिवार को पड़ने की उम्मीद में खरीदारी कर रहे थे, लेकिन ईद के चांद के गुरुवार की शाम को दिखने की संभावना वाली खबरों की रिपोर्ट के बाद अनुशासित खरीददारों की लंबी कतारे अचानक से मटन, बेकरी की वस्तुएं और खाने के दूसरे समान खरीदने के लिए भीड़ में बदल गई व धक्का-मुक्की शुरू हो गई।

यातायात विभाग के अधिकारी जो श्रीनगर में यातायात को सुचारु बनाए रखते थे, उन्होंने मोटर चालकों को गलत पार्किं ग करते और बेकरी के दुकानों के काउंटरों को फुटपाथ पर लगाते देखा गया।

बच्चों को उनके माता-पिता के साथ बेहद भीड़ वाले रास्तों पर पटाखों की खरीदारी करते देखा गया। दुकानदारों ने अधिकारियों पर प्रशासन द्वारा तय मूल्य सूची का पालन करने की बजाय काला बाजारी करने वालों को त्योहार का फायदा उठाने की अनुमति देने का आरोप लगाया।

ज्यादातर कार्यालय व शैक्षिक संस्थान जल्द ही सुनसान हो गए, क्योंकि हर कोई जल्दी घर पहुंचना चाहता था। रमजान के पवित्र महीने के दौरान उपवास करने के बाद ईद दुनियाभर के मुस्लिमों के लिए कृतज्ञता जाहिर करने का विशेष दिन है, जो अपने परिवारों के साथ शानदार भोजन की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

कश्मीर में सामान्य जीवन बीते 30 सालों से हिंसा से प्रभावित है, इसलिए इस तरह के अवसर लोगों के लिए खास होते हैं। इस दौरान लोग खरीदारी, दोस्तों व संबंधियों से मिलने व दूसरे सामाजिक गतिविधियों में शामिल होते हैं।

केंद्र सरकार के रमजान के दौरान संघर्षविराम की घोषणा के बाद से लोग अपने क्षेत्रों में स्वतंत्र रूप से घूम रहे हैं, अन्यथा वे सुरक्षा बलों के आतंकवादियों के खिलाफ अभियान से असुरक्षित महसूस करते हैं।

loading...
शेयर करें