साफ-सफाई की बढ़ी अहमियत, सर्वे (Survey) के मुताबिक पहले से ज्यादा कपड़े धो रहे लोग

कोरोना वायरस को लेकर लोगों में साफ-साफाई की अहमियत काफी बढ़ गई है। एक सर्वे के मुताबिक लोग पहले से ज्यादा लोग साफ-सफाई पर ज्यादा ध्यान दें रहे हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को लेकर लोगों में साफ-साफाई की अहमियत काफी बढ़ गई है। एक सर्वे के मुताबिक लोग पहले से ज्यादा लोग साफ-सफाई पर ज्यादा ध्यान दें रहे हैं। 2020 की दूसरी छमाही में 92% लोगों ने महसूस किया की सफाई का काम बढ़ गया है।

 

घर के अंदर साफ सफाई
घर के अंदर साफ सफाई

सर्वे के मुताबिक

सर्वे में बताया गया है कि लोग पहले के मुताबिक अब कपड़े ज्यादा धो रहे हैं। कंसल्टिंग कंपनी कंटार के सर्वे रिर्पोट में यह बात सामने आई की लोग अब ऑनलाई के जरिये भी कपड़े धुलवाने का ऑपशन खोज रहे हैं। 82% लोगों का कहना है की जब भी हम लोग घर से बाहर आया-जाया करते है तो हमेशा एक मन में डर बना रहता है, कहीं हमारे साथ कोई किटाणु ना आ जाएं। वहीं उन्होंने बताया 87% लोगों का कहना है कि बीते कुछ समय में वे पहले के मुकाबले ज्यादा बार कपड़े धोने लगे हैं। इस सर्वे में दिल्ली, मुंबई, बेगलुर, चेन्नई और कोलकाता के 500 लोगों ने हिस्सा लिया था। सर्वे में शामिल 79% लोगों ने दावा किया कि गर्म पानी से कपड़ों को अच्छे से साफ हो जाता है।

इस बात का कोई निश्चित प्रमाण नहीं है कि कोविड-19 (COVID-19) कपड़ों पर किटाणु पनपता है या नहीं। जबकि, कपड़ों में छोटे-छोटे छेद होते हैं, लेकिन कपड़ों के माध्यम से कोरोना का संक्रमण कम होता है। कपड़ों से आप तभी संक्रमित हो सकते हैं, जब आपके कपड़े भीग जाते हैं या ऐसी सतह को छू जाते हैं जो संक्रमित है और जगह नमीदार भी है। ऐसे में जब आप अपने कपड़ों को छूते हैं और फिर आपके हाथ आपकी नाक या मुंह से संपर्क करते हैं। ऐसी स्थिति में संक्रमण होने की बहुत संभावना है। सामान्य तौर पर ऐसा कम ही होता है।

यह भी पढ़े:महिला के साथ गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट (Private part) पर चोट के निशान

Related Articles

Back to top button