बाजारों में बढ़ रही भीड़, जनता नहीं गंभीर, सरकार करती रह गई ऐलान

नागपुर: महाराष्ट्र में एक बार फिर से हालात बिगड़ने लगे है। एक तरफ जहां भारत देश के कई राज्यों में संक्रमण (COVID-19) कम होते नजर आ रहे है तो वहीं महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इन्हीं मामलो को देखते हुए उद्धव ठाकरे सरकार (Uddhav Thackeray Government) गंभीर नजर आ रहे है। सरकार (Government) ने लोगो से मास्क लगाने की अपील की है। लेकिन यहां के नागपुर में लोगो पर इसका कोई असर नई दिखाई दें रहा है। शहर के सिताबर्डी में लोग बिना मास्क के बाजारों में एक साथ खरीदारी कर रहे है यहां किसी प्रकार की समाजिक दुरी नहीं बनाए हुए है। इस तरह की लापरवाही लोगो के लिए भारी पड़ सकती है।

बाजारों में लगी भीड़

महाराष्ट्र में सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है। वहीं नागपुर के बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग का कोई पालन नहीं हो रहा है। सोशल मीडिया पर बिना मास्क व भीड़ के साथ खरीदारी करते हुए लोगो की फोटो वायरल हो रही है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कड़े प्रतिबंध लागू करने की बात कही है, लेकिन आज ही की रात में नागपुर से ऐसा नजारा देखने को मिला है। इस भीड़ को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि सिताबर्डी के लोगो में कोरोना का कोई डर नहीं है।

ये भी पढ़ें : फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार से कहा- चीन की तरह पाकिस्तान से करें बात

बढ़ रहे अधिक मामले

महाराष्ट्र में रविवार को 7 हजार मामले सामने आए हैं। राज्य में बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सीएम उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र में होने वाले सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है। महाराष्ट्र में संक्रमित लोगों की संख्या 21 लाख 884 पहुंच गई है। राज्य में अब तक 51,788 लोगों की मौत हुई है जबकि करीब 52,956 लोगों का अभी इलाज चल रहा है।

ये भी पढ़ें : भीड़ जुटाने से वापस नहीं होते कानून, कमियां बताएं किसान: नरेंद्र सिंह तोमर

 

Related Articles

Back to top button