निपाह वायरस का बढ़ता प्रकोप, केरल से एक्सपोर्ट होने वाले फल और सब्जियों पर लगा बैन

नई दिल्ली। केरल को इन दिनों निपाह नाम के जानलेवा वायरस ने अपनी गिरफ्त में कर रखा है। जानकारी के मुताबिक इस वायरस से अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है। इस वायरस से लगातार बढ़ रही मौत को देखते हुए राज्य सरकार का स्वास्थय विभाग बिल्कुल सचेत हो गया है। कहा जा रहा है विभाग सावधानी बरतने की चेतावनी दे दी है। कहा जा रहा है कि इस वायरस का खतरा टलने का नाम नहीं ले रहा है। निपाह वायरस की वजह से भारत के एक्सपोर्ट पर लगातार खतरा मंडरा रहा है। जिसके बाद केरल से एक्सपोर्ट होने वाले फलों और सब्जियों को भी बैन कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक कहा जा रहा है कि भारत के लिए यह सबसे बड़ा खतरा बनता जा रहा है। जिसकी वजह से यूएई, बेहरीन, और अब एक और देश ने सब्जियों व फलों पर बैन लगा दिया है। डब्लूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक यह वायरस चमगादड़ की लार, और यूरिन से फैलता है। इसलिए उन फलों पर बैन लगाया गया है जिसे चमगादड़ चखते हैं। इसमें विशेष तौर पर ग्रेटर इंडियन फ्रूट बैट हैं, जिसके बारे में कहा जाता है कि दक्षिण एशिया में यह ज्यादा मात्रा में पाया जाता है।

खबरों की माने तो सऊदी अरब ने केरल से एक्सपोर्ट होने वाले फलों और सब्जियों को बैन कर दिया है। इन फलों में केला, आम, और अंगूर जैसे फल शामिल है। यह बैन बेहरीन में भी लगाया गया है, जिसके बारे में मंत्रालय का कहना है कि वायरस को सऊदी अरब में फैलने से रोकने के लिए सावधानी पूर्वक यह प्रतिबंध लगाया गया है। इस वायरस से हो रही मौत के बाद बताया जा रहा है कि यह पहली बार नहीं जब निपाह वायरस का प्रकोप आया हो। इससे पहले भी तीन बार यह वायरस दस्तक दे चुका है। साल 2001, और 2007 में यह वायरस अटैक कर चुका है।

Related Articles