IND vs AUS: गुलाबी गेंद के टेस्ट में दम दिखाने उतरेगी टीम इंडिया

एडिलेड: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार से एडिलेड में खेला जाएगा। पहला मैच दिन-रात्रि है और इसे गुलाबी गेंद से खेला जाएगा। दोनों टीमों के बीच वनडे और टी-20 सीरीज खेली जा चुकी है। वनडे सीरीज को ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 से जबकि टी-20 सीरीज भारत ने 2-1 से अपने नाम की थी। भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें टेस्ट में अपना दम दिखाने उतरेंगी।

गुलाबी गेंद से खेलने उतरेगी भारतीय टीम

ऑस्ट्रेलिया आठवीं बार गुलाबी गेंद से खेलने उतरेगी जबकि भारतीय टीम का गुलाबी गेंद से यह दूसरा मुकाबला है। भारतीय टीम ने इससे पहले पिछले साल बंगलादेश के खिलाफ गुलाबी गेंद से टेस्ट मुकाबला खेला था। हालांकि विदेशी जमीन पर टीम इंडिया का गुलाबी गेंद से यह पहला मुकाबला है।

भारत ने 2018-19 में आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था और चार टेस्ट मैचों की सीरीज उसने 2-1 से अपने नाम की थी। पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे में भारतीय टीम को एडिलेड में जीत हासिल हुई थी और उसने कंगारु टीम को 31 रन से मात दी थी। इसके बाद मेलबोर्न टेस्ट में 137 रन से शिकस्त दी थी। टीम इंडिया को हालांकि पर्थ टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था जबकि सिडनी में खेला गया चौथा टेस्ट ड्रॉ रहा था।

सीरीज की शुरुआत जीत से करना चाहेगी

टीम इंडिया इस रिकॉर्ड को बरकरार रख सीरीज की शुरुआत जीत से करना चाहेगी। भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के घरेलू मैदान में 12 सीरीज खेली है और उसे आठ में हार मिली है जबकि 2018-19 में पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी जमीन पर मात दी थी। दोनों टीमों के बीच तीन टेस्ट सीरीज ड्रॉ रही है। भारतीय टीम का मनोबल पिछले आंकड़ों को देखते हुए बढ़ेगा लेकिन पिछली बार ऑस्ट्रेलियाई टीम में सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ शामिल नहीं थे जो इस बार कंगारु टीम में हैं और भारत के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं।

स्मिथ मंगलवार को पीठ में सूजन के कारण अभ्यास सत्र बीच में छोड़कर चले गए थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने बताया कि वह फिट हैं और उनके पहले टेस्ट में खेलने की पूरी उम्मीद है। वार्नर की अनुपस्थिति में स्मिथ की भूमिका काफी अहम होगी। पहले टेस्ट में टीम इंडिया की ओर से सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल पर टीम को मजबूत शुरुआत दिलाने जिम्मेदारी होगी। रोहित शर्मा पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे और उनकी अनुपस्थिति में इन बल्लेबाजों को अपना दम दिखाना होगा।

यह भी पढ़ें: IND vs AUS: विराट कोहली के स्वदेश वापस लौटने पर क्या बोले गावस्कर?

Related Articles

Back to top button