तालिबान के कहर से भारत सतर्क, योगी सरकार एलर्ट, युद्धस्तर पर कार्य आरंभ

लखनऊ: अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से पूरी दुनिया अब सतर्क हो गई है। वहीं भारत देश भी इससे निपटने के लिए कड़े बंदोबस्त कर रही है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्टिव दिखाई दें रहे है। सीएम योगी ने देवबंद में आतंकवाद निरोधी दस्ता (ATS) का सेंटर स्थापित करने का बड़ा फैसला लिया है। इसी को लेकर सीएम योगी के सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट किया है।

शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, ‘तालिबान की बर्बरता के बीच यूपी की खबर भी सुनिए। योगीजी ने तत्काल प्रभाव से ‘देवबंद’ में ATS कमांडो सेंटर खोलने का निर्णय लिया है।’ इसके आगे उन्होंने बताया है कि अब युद्धस्तर पर काम शुरू हो चुका है और पूरे राज्य से चुने हुए लगभग डेढ़ दर्जन तेज-तर्रार ATS अधिकारियों की यहां तैनाती की जाएगी।

यूपी में बनेगी एटीएस की 12 और इकाइयां। 10 जिलों मेरठ, अलीगढ़, श्रावस्ती, बहराइच, ग्रेटर नोएडा, आजमगढ़, सोनभद्र, कानपुर, मीरजापुर और देवबंद में एटीएस यूनिट के लिए भूमि आवंटित। वाराणसी और झांसी के लिए जल्द ही होगी भूमि आवंटित।

आपको बता दें कि देवबंद में ही ‘दारुल उलूम’ स्थापित है, जहाँ से इस्लामी देवबंदी अभियान शुरू हुआ था।अफ़ग़ानिस्तान में कहर बरपा रहे आतंकी संगठन तालिबान को भी इसी विचारधारा से प्रेरित बताया जाता है। बता दें कि आतंक के मामले में देवबंद भी बदनाम रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन ने दो हजार वर्गमीटर भूमि पहले ही ATS को आवंटित कर दी है।

बता दें कि देवबंद से पहले लखनऊ और नोएडा में ATS का कमांडो ट्रेनिंग सेंटर खोलने की कवायद जारी है। लखनऊ में अमौसी और नोएडा में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास इन सेंटर्स की स्थापना का फैसला लिया गया है। दोनों स्थानों पर जमीन भी तय कर ली गई है। फरवरी 2019 में देवबंद के दो आतंकियों को अरेस्ट किया था। ISI के एजेंट्स भी यहाँ से पकड़े गए थे। यहाँ से कुछ ही दूरी पर सहारनपुर से भी कई आतंकी गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

Related Articles