भारत और यूएई बढायेंगे आर्थिक सहयोग, व्यापार और निवेश के क्षेत्र में आने वाली बाधाओं पर भी हुई चर्चा

भारत और यूएई निवेश उच्च स्तरीय संयुक्त कार्य बल की आठवीं बैठक में यह सहमति जतायी गयी। यह बैठक भारत की मेजबानी में मंगलवार को ऑनलाइन आयोजित की गयी।

नई दिल्ली: भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग और मजबूत करने पर सहमति व्यक्त करते हुए कहा है कि दोनों पक्षों को प्रक्रिया सरल करने और निवेश के लिये नये क्षेत्रों में संभावनायें तलाशने की जरूरत है।

भारत और यूएई निवेश उच्च स्तरीय संयुक्त कार्य बल की आठवीं बैठक में यह सहमति जतायी गयी। यह बैठक भारत की मेजबानी में मंगलवार को ऑनलाइन आयोजित की गयी।

भारतीय पक्ष का नेतृत्व केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने किया और यूएई का नेतृत्व अबूधाबी की कार्यकारी परिषद के सदस्य शेख हामेद बिन जायेद अल नाहयान ने किया। बैठक में दोनों देशों के संबद्ध वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

बैठक में कार्यबल की कार्य प्रणाली और द्विपक्षीय व्यापार और निवेश के परिणाम पर संतोष जाहिर किया गया। दोनों पक्षों ने दोनों देशों में निवेश और व्यापार के नये क्षेत्र तलाशने पर जोर दिया। इसके लिए निरंतर वार्ता और संपर्क की आवश्यकता जताई गई। दोनों देशों ने व्यापार और निवेश के क्षेत्र में आने वाली बाधाओं और अडचनों को दूर करने पर भी बल दिया।

नागरिक उड्डयन क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर बल देते हुए दोनों पक्षों ने उच्च स्तरीय सम्पर्क पर सहमति जताई। बैठक में स्वास्थ्य देखभाल, फार्मा, खाद्य और कृषि, मालवहन और ऊर्जा आदि क्षेत्र में निवेश और व्यापार बढ़ाने पर चर्चा की गयी।

यह भी पढ़ें- कोरोना संक्रमितों की संख्या 83 लाख के पार, 440 लोगों की मौत

Related Articles