भारत ने दुनिया के पहले DNA कोविड वैक्सीन को दी मंजूरी

नई दिल्ली : भारत के दवा नियामक ने इमरजेंसी उपयोग के लिए कोविड -19 के खिलाफ दुनिया के पहले DNA वैक्सीन को मंजूरी दे दी है।  इस वैक्सीन को कैडिला हेल्थकेयर द्वारा तैयार किया जा रहा है। इस कड़ी में फर्म रेप्रेज़ेंटेटिव के बयान के मुताबिक फर्म की योजना हर साल इस वैक्सीन की 120 मिलियन खुराक तक बनाने की है। जिससे भारत जैसे बड़ी आबादी वाले देशों में में चल रहे टीकाकरण अभियान में रुकावट न आये।

बच्चों में भी असरदार है यह DNA वैक्सीन

इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक पिछले डीएनए टीकों ने जानवरों में तो अच्छा काम किया है लेकिन इंसानों में नहीं नतीजे उम्मीद के मताबिक नहीं थे। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत अब तक पहले से स्वीकृत तीन टीकों – कोविशील्ड, कोवैक्सिन और स्पुतनिक वी की 570 मिलियन से अधिक खुराक दे चुका है। इस दौरान लगभग 13% वयस्कों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है और 47% ने जनवरी में अभियान की शुरुआत के बाद से अबतक कम से कम एक शॉट प्राप्त कर लिया है।

वैक्सीन निर्माता कैडिला हेल्थकेयर ने इस कड़ी में एक बयान जारी कर कहा कि उसने भारत में टीके के लिए अब तक का सबसे बड़ा क्लिनिकल परीक्षण किया है, जिसमें 50 से अधिक केंद्रों में 28,000 वोलेंटेएर को शामिल किया गया था।

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान में इस तारीख तक नहीं बनेगी तालिबानी सरकार, अमेरिका ने बताई वजह

 

Related Articles