मेट्रो में वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराने वाला दक्षिण एशिया में भारत बना पहला देश

मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों को अक्सर नेटवर्क की समस्या से जूझना पड़ता रहा है। इस समस्या से लोगों को काफी हद तक राहत मिल गई है। दिल्ली मेट्रो की करीब 23 किलोमीटर की यात्रा के दौरान लोग नि:शुल्क हाई स्पीड वाईफाई सेवा का फायदा उठा पा रहे हैं। दक्षिण एशियाई क्षेत्र में किसी भी देश के भूमिगत मेट्रो में इस तरह की पहली सुविधा है। भारत से पहले तीन देशों में ये सुविधा है।

दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन (नई दिल्ली-द्वारका सेक्टर 21) की मेट्रो में मुफ्त वाई-फाई की सुविधा शुरू कर यात्रियों को बड़ा तोहफा दिया है। स्मार्टफोन में वाई-फाई ऑन करने के बाद मेट्रो वाईफाई-फ्री का विकल्प चुनें। मोबाइल नंबर पूछे जाने पर उसे दर्ज करें। इसके बाद मोबाइल पर एक ओटीपी (वन टाइप पासवर्ड) मिलेगा। ओटीपी दर्ज करने के बाद कनेक्ट पर क्लिक करते ही वाई-फाई चलने लगेगा।

डीएमआरसी के अधिकारी ने अधिकारी ने बताया कि पहले से ही ब्लू लाइन और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के प्लेटफार्मों पर वाई-फाई की सुविधा है| यह सेवा दिल्ली मेट्रो के अन्य रूटों पर भी शुरू की जा सकती हैं| यानी आने वाले समय में अन्य रूटों पर भी ट्रेन के डिब्बों में फ्री वाई-फाई की सुविधा दी जा सकती है|

यहां पर बता दें कि डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक मंगू सिंह ने बृहस्पतिवार को इसकी शुरुआत की। अब यात्री चलती मेट्रो में वाई-फाई के जरिये इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकेंगे। वाट्सएप के जरिये कॉल और वीडियो कॉल कर बातचीत भी कर सकते हैं। मंगू सिंह ने कहा कि भूमिगत कॉरिडोर की मेट्रो में मुफ्त वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराने वाला दक्षिण एशिया में भारत पहला देश बन गया है। वहीं, देश में यह सुविधा सबसे पहले दिल्ली मेट्रो में उपलब्ध हुई है।

Related Articles