तीरंदाजी विश्व चैंपियनशिप में भारत ने किया रजत पदक पर क़ब्ज़ा

यांकटन: अमेरिका में चल रही तीरंदाजी विश्व चैंपियनशिप में भारत की महिला और मिश्रित युगल कंपाउंड तीरंदाजी टीम ने दो रजत पदक हासिल किए। भारत विश्व चैंपियनशिप में अपने पहले स्वर्ण पदक के लिए चुनौती पेश कर रहा था, पर एक कड़ी टक्कर वाले मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा और भारत को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा।

पहले दौर में बराबर होने के बाद पिछड़ा भारत

पहले दौर तक खेल बराबर का था, भारतीय महिला टीम ने इसके बाद बढ़त बनाने का मौका गंवाया और विरोधी टीम एक अंक से आगे हो गई। कोलंबियाई टीम ने इसके बाद भारतीय टीम को कोई मौका नहीं दिया और आखिरी 12 में से आठ तीर 10 अंक पर मारकर तीसरी बार महिला खिताब जीता। यह 2017 के बाद टीम का पहला खिताब है। मिश्रित युगल में भारत के लिए दूसरा दौर खराब रहा, जहां उन्होंने दो बार 9 और 1 बार 8 अंक के साथ एक अंक की बढ़त गंवाई और अंत: चार अंक के अंतर से मुकाबला हार गई।

सबसे ज्यादा बार पोडियम पर बनाई जगह

भारत की महिला और मिश्रित युगल कंपाउंड तीरंदाजी टीम को कोलंबिया के खिलाफ एकतरफा मुकाबलों में शिकस्त के साथ यहां विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत विश्व चैंपियनशिप में अपने पहले स्वर्ण पदक के लिए चुनौती पेश कर रहा था, भारत अब तक स्वर्ण पदक नहीं जीत पाया है। लेकिन उसने सबसे अधिक 10 बार पोडियम पर जगह बनाई है।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में डेंगू का आंकड़ा बढ़ा, फिरोजाबाद में कुल 63 लोगों की मौत

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)..

Related Articles