भारत में है एक ऐसी जगह जहां रहने के लिए धर्म, जाति, पैसे की जरुरत नहीं पड़ती

0

नई दिल्ली। यूं तो आए दिन भारत में धर्म-जाति की लड़ाई देखने को मिलते रहती है, लेकिन कैसा हो अगर ये घर्म, जाति, पैसा, सरकार जैसी बातें ही खत्म हो जाए। जी हां, पढ़कर थोड़ा हैरान जरुर होंगे पर आज भी ऐसी जगह है जहां इन सारी बातों का मायने खत्म हो जाते हैं। यहां सभी देशों के लोग आकर रह सकते हैं। यहां रहने वाले लोग राष्ट्रीयता, जाति, धर्म से ऊपर उठकर रहते हैं। यह सबसे शांत शहर भी माना जाता है।

ऐसा आपको देखने को जरुर मिलेगा लेकिन चेन्नई से 150 किमी दूर ऑरिविल नाम की के शहर में। कहा जाता है कि इस शहर को अल्फाज़ो नाम की एक औरत ने स्थापित किया था, और साथ ही इस शहर में बहुत सी खास बातें हैं। बात करें यहां की आबादी की मौजूदा समय में यहां की आबादी 24 हज़ार है।

अल्फाज़ों द्वारा स्थापित किए गए इस शहर को सिटी ऑफ डॉन भी कहा जाता है। शहर की खासियत बताते हुए कहा जाता है कि इस शहर को भेदभाव मिटाने के लिए बनाया गया है। इस जगह आपको 50 देशों से ज्यादा के लोग आपको मिलेंगे, लेकिन साथ ही यह भी कहा जाता है इस शहर में सिर्फ उन्हीं लोगों को रहने की इजाजत है जो कभी किसी का मालिक बनने की कोशिश न करें। यहां सबको सेवक के तौर पर रहना होता है।

अब आते धर्म पर तो आपको बता दें कि यहां पर कोई भगवान की पूजा नहीं होती, न ही यहां किसी भगवान की मूर्ति या तस्वीर है। यहां एक खूबसूरत मंदिर है जहां लोग आकर सिर्फ योगा करते हैं। बताया जाता है कि इस जगह की प्रशंसा यूनेस्कों भी करता है। साथ ही इसे भारत सरकार द्वारा मान्यता भी दी गई है।

loading...
शेयर करें